संवाद सहयोगी, रुड़की: पाडली गुर्जर गांव में बुधवार को जिला मलेरिया अधिकारी के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची। टीम को सौ से अधिक घरों में डेंगू का लार्वा मिला। टीम ने लार्वा नष्ट करने के साथ ही घरों में कीटनाशक का स्प्रे किया। 30 से अधिक लोग बुखार से पीड़ित मिले। जिनको सिविल अस्पताल में डेंगू की जांच कराने के और बिना विशेषज्ञ चिकित्सक के परामर्श के दवा न खाने की सलाह दी गई।

पाडली गुर्जर गांव, तेल्लीवाला और शक्ति विहार कॉलोनी में लगातार डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. गुरनाम ¨सह बुधवार को एक बार फिर टीम के साथ पाडली गुर्जर गांव पहुंचे। यहां उन्हें सौ से अधिक घरों में डेंगू का लार्वा मिला। जिसे नष्ट किया गया। साथ ही घरों में कीटनाशक का स्प्रे भी किया गया। आशाओं की 10 टीमें भी क्षेत्र में डेंगू के प्रति जागरुकता और कीटनाशक का स्प्रे कर रही हैं। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. गुरनाम ¨सह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग क्षेत्र पर नजर बनाए हुए है। जल्द ही स्थिति पर काबू पा लिया जाएगा। ----------

अस्पताल में फिजिशियन की मांग

रुड़की: डेंगू के मामले में लगातार बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन सिविल अस्पताल में फिजिशियन नहीं है। इसके कारण मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। पाडली गुर्जर गांव के नौशाद अली आदि लोगों ने जिला मलेरिया अधिकारी से सिविल अस्पताल में फिजिशियन की तैनाती कराने की मांग की है। साथ ही गांव में बुखार से पीड़ित मरीजों की बड़ी संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य कैंप लगाने की मांग की। जिससे ग्रामीणों की डेंगू की जांच हो सके।

Posted By: Jagran