मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हरिद्वार, [जेएनएन]: अखिल विश्व गायत्री परिवार गंगोत्री से गंगासागर तक 2525 किमी दूरी तय करने वाली गंगा सहित तीस सहायक नदियों में स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। साथ ही इन नदियों के दोनों तटों पर वृहद स्तर पर पौधे भी रोपे जायेंगे।

पढ़ें:-बदरी-केदार में दिखा श्रद्धालुओं का उत्साह, पिछले दो सालों का रेकार्ड टूटा
शांतिकुंज के मुख्य सत्संग हॉल में आयोजित कार्यक्रम में डॉ. पंड्या ने कहा कि गंगा व गायत्री में विशेष सामंजस्य है। गंगा मानव को पवित्र करती है तो गायत्री बुद्धि को प्रखर बनाती है। स्वर्ग जैसा माहौल गंगा की पवित्रता की प्रेरणा से बन सकता है तो मानव में देवत्व जैसा वातावरण गायत्री की नियमित उपासना से संभव है।

पढ़ें:-हर-हर महादेव की गूंज के साथ मानसरोवर यात्रियों का दल सिरका को रवाना
उन्होंने कहा कि युवा क्रांति वर्ष 2016 की शुरूआत से ही युवाओं को हनुमान जी की तरह बलवान, चरित्रवान बनाने के लिए काम किया जा रहा है। शांतिकुंज व देवसंस्कृति विश्वविद्यालय इसके लिए जुटा हुआ है।
आगामी दस वर्ष में गायत्री परिवार दस करोड़ युवाओं को इस मुहिम से जोड़ेगा। उन्होंने बताया कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर गायत्री परिवार एक लाख से अधिक स्थान पर शिविर लगाएगा।

पढ़ें:-गंगोत्री स्थित सूर्यकुंड में दिया था भगीरथ ने सूर्य को अर्घ्य
संस्था की अधिष्ठात्री शैल दीदी ने कहा कि मां गंगा की प्रेरणा और मां गायत्री की शिक्षा को जीवन में उतारने से सार्थकता आती है। इस अवसर पर हिन्दी, असमिया, बांग्ला, मराठी, मलयालम सहित सात भाषाओं की 22 पुस्तकों का विमोचन किया गया।
कार्यक्रम में यमन, कम्बोडिया, दक्षिण कोरिया, मॉरिशस, अफगानिस्तान के अलावा कई अन्य देशों से आये लोग मौजूद रहे। अंत में पं. श्रीराम शर्मा आचार्य की 25वीं पुण्यतिथि पर सामूहिक तर्पण व संस्कार कर उनके बताये सूत्रों को जीवन में धारण करने का संकल्प लिया गया।
पढ़ें:-केदारनाथ मंदिर इतने सौ सालों तक दबा रहा बर्फ के अंदर, जानने के लिए पढ़ें...

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप