संवाद सूत्र लालढांग: अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत डेरे तोड़े जाने के विरोध में वन गुर्जरों ने वन रेंजर का घेराव किया। दबाव में वन विभाग अब बैकफुट पर आ गया है। विभाग अभियान स्थगित करने की बात कही है। वहीं, वन गुर्जरों ने चेतावनी दी कि अगर दोबारा यह कार्रवाई की तो, सड़क पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा।

मंगलवार को हरिद्वार वन प्रभाग की श्यामपुर रेंज के क्षेत्राधिकारी के नेतृत्व में टीम ने गाजीवाली, श्यामपुर और सजनपुर पीली के जंगल में रह रहे वन गुर्जरों के कुछ डेरे जेसीबी से तोड़ दिए थे। जिसके बाद वन विभाग की टीम पर वन गुर्जरों ने लाठी डंडों से हमला करने का प्रयास किया था। इस पर वन विभाग की टीम अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई छोड़ बैरंग लौट गई थी।

वन गुर्जरों को बुधवार को भी विभाग की ओर से जंगल से अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए अभियान चलाने की तैयारी की भनक लगी। जिस पर वन गुर्जर और चंडी घाट स्थित बस्ती के लोग श्यामपुर रेंज पर एकत्र हरुए और विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उनके साथ पूर्व विधायक अंबरीश कुमार और कांग्रेस नेता गुरजीत लहरी भी पहुंचे। गुरजीत लहरी ने कहा किसी भी कीमत पर वन गुर्जरों के डेरों को तोड़ने नहीं दिया जाएगा। अगर वन विभाग ऐसी कार्रवाई करता है तो पहले जेसीबी को उनके सीने पर से गुजारना होगा। वन क्षेत्राधिकारी श्यामपुर देवेंद्र ¨सह पुंडीर ने बताया कि वन गुर्जरों को यह गलतफहमी थी कि जिनके परमिट बने हैं उन्हें भी हटाया जा रहा है। जबकि जिनके पास परमिट नहीं हैं या फिर उनके पास परमिट कहीं और का है और वह कहीं और रह रहे हैं, ऐसे अतिक्रमण हटाने थे। फिलहाल अगले कुछ दिन तक अभियान रोकने का फैसला लिया गया है।

Posted By: Jagran