जागरण संवाददाता, हरिद्वार: कांवड़ मेले में सुरक्षा और यातायात व्यवस्था के लिए करीब पांच हजार पुलिसकर्मी हरिद्वार जनपद में तैनात रहेंगे। मेला डयूटी के लिए अधिकांश बाहरी जनपदों से पुलिस बल हरिद्वार पहुंच चुका है। सोमवार को आला अधिकारी मेला डयूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को ब्रीफ करेंगे। जिसके बाद 16 अगस्त की शाम से पुलिसकर्मी डयूटी प्वाइंटों पर मोर्चा संभाल लेंगे।

श्रावण मास कांवड़ मेला विधिवत रूप से 17 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। 30 जुलाई को महाशिवरात्रि के अवसर पर शिवालयों में जलाभिषेक के साथ कांवड़ मेले का समापन होगा। इन 13 दिनों में तीन करोड़ से अधिक शिवभक्तों के हरिद्वार पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है। कांवड़ मेले में सबसे अहम जिम्मेदारी पुलिस के कंधों पर रहती है। हरकी पैड़ी से लेकर जनपद की सीमाओं तक चप्पे-चप्पे पर कांवड़ियों की सुरक्षा और यातायात व्यवस्था के लिए तैनाती दी जाएगी। इस लिहाज से कांवड़ मेले में करीब पांच हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। इनमें बाहरी जनपदों से पीएसी, अ‌र्द्धसैनिक बल, होमगार्ड आदि के करीब साढ़े तीन हजार जवान भी शामिल हैं। साथ ही गंगा में डूबने से बचाने के लिए जल पुलिस के गोताखोर, घुड़सवार पुलिस, बम व डॉग स्क्वॉड, खुफिया विभाग के कर्मचारी, अधिकारी भी तैनात रहेंगे। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय को मेला प्रभारी व एएसपी सदर आयुष अग्रवाल को वेलफेयर आफिसर की जिम्मेदारी दी गई है।

एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूरी ने बताया कि बाहरी जनपदों से आने वाला ज्यादातर पुलिस बल हरिद्वार पहुंच चुका है। सोमवार को ब्रीफिग के बाद मंगलवार शाम से पुलिसर्मियों की तैनाती कर दी जाएगी। मेला सुरक्षित व सकुशल संपन्न कराने के लिए शहर की सामाजिक, धार्मिंक संस्थाओं और जिम्मेदार नागरिकों से भी सहयोग लिया जाएगा।

Posted By: Jagran