संवाद सहयोगी, मंगलौर: नसीरपुर गांव में हुए मंदिर के सेवादार की हत्या के मामले में पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। इसके चलते पुलिस ने कुछ सीसीटीवी फुटेज एवं डीबीआर को कब्जे में लिया है। वहीं एसएसपी ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर मामले का जल्द पटाक्षेप करने के निर्देश दिए हैं।

नसीरपुर गांव में मंदिर के सेवादार की हत्या कर उसका कमरा बंद कर दिया गया। कमरे से दुर्गंध आने पर ग्रामीणों को इस बात की जानकारी मिली। कमरा खोलकर देखा तो सेवादार की निर्मम हत्या की गई है। शुक्रवार की रात को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस की विभिन्न फोरेसिक टीमों ने मौके से फिगर प्रिट आदि एकत्र किए।

मृतक सुखराम निवासी मिरकपुर थाना देवबंद के भतीजे संदीप निवासी रामूपुर रणसुरा ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने मंगलाौर पुलिस के अलावा सीआइयू की टीम को भी इस हत्याकांड के आरोपितों को पकड़ने की जिम्मेदारी दी है। वहीं रात से ही सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस को कुछ अहम सुराग मिले हैं। इसके आधार पर जांच आगे बढ़ाई जा रही है। कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि सेवादार के पास बैठने वाले संदिग्ध व्यक्तियों का भी ब्यौरा जुटाया जा रहा है। कुछ से पूछताछ भी की गई है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा कि सेवादार की हत्या किस दिन हुई है और हत्या किससे की गई है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपितों को पकड़ लिया जाएगा।

Edited By: Jagran