जागरण संवाददाता, हरिद्वार : हरकी पैड़ी पर फोटोग्राफी करने वाले युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में परिवार ने मंगेतर की मां और जीजा पर साजिश का शक जताया है। साथ ही पुलिस पर सुनवाई न करने का आरोप लगाते हुए एसएसपी से न्याय की गुहार भी लगाई है।

श्यामपुर के कांगड़ी गांव की हिमालयन कालोनी निवासी गोविद गिरि हरकी पैड़ी पर फोटोग्राफी करता था। उसके पिता राजाराम उर्फ राजू गिरि ने तहरीर में बताया कि एक साल पहले कांगड़ी निवासी युवक ने गोविद का रिश्ता ज्वालापुर लाल मंदिर कालोनी में अपनी साली से कराया था। सगाई के बाद गोविद अपनी मंगेतर के घर आने जाने लगा था। कहा कि मंगेतर के मायके में घर बनवाने में भी गोविद ने करीब ढाई लाख रुपये की मदद की। आरोप लगाया कि कुछ दिन बाद मंगेतर की मां शादी करने से मना करने लगी, जबकि गोविद और उसकी मंगेतर एक दूसरे से शादी करना चाहते थे। 13 सितंबर को मंगेतर ने फोन पर रोते हुए बताया कि गोविद को करंट लग गया है। वह आनन-फानन अस्पताल पहुंचे तो गोविद को मृत घोषित किया जा चुका था। गोविद के पिता ने शक जताया कि बेटे की मौत के पीछे मंगेतर की मां और जीजा की साजिश है, क्योंकि वह दोनों पोस्टमार्टम कराने के पक्ष में नहीं थे। बताया कि वह रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए श्यामपुर, हरिद्वार और ज्वालापुर कोतवाली के चक्कर काट रहे हैं। लेकिन पुलिस रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही है। परिवार ने एसएसपी से कार्रवाई की मांग की है।

Edited By: Jagran