संवाद सहयोगी, रुड़की : नगर निगम ने मोहल्ला स्वच्छता समिति के तहत रखी गई 15 महिला सफाई कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। निगम के इस फरमान के विरोध में हटाई गई महिला कर्मचारियों ने निगम में प्रदर्शन किया। साथ ही उनकी सेवाएं बहाल किए जाने की मांग की। हटाई गई महिला सफाई कर्मचारी रामपुर व पाडली गुर्जर में तैनात थी।

नगर निगम रुड़की क्षेत्र से रामपुर और पाडली गुर्जर को बाहर करने के चलते निगम ने दोनों गांवों की सफाई व्यवस्था बंद कर दी है। यहां तैनात पुरुष सफाई कर्मचारियों को निगम ने अन्य क्षेत्रों में लगा दिया है। जबकि मोहल्ला स्वच्छता समिति के तहत रखी गई 15 महिला सफाई कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। सेवाएं समाप्त होने से आक्रोशित महिला सफाई कर्मचारी मंगलवार को नगर निगम में पहुंची। उन्होंने निगम अधिकारियों से उनकी सेवाएं बहाल करने और उनकी तैनाती अन्य क्षेत्रों में करने की मांग की। मांग को लेकर महिला कर्मचारियों ने प्रदर्शन भी किया। महिला कर्मचारियों का कहना था कि दोनों गांवों को निगम से बाहर करने की सजा उन्हें क्यों दी जा रही है। कहा निगम से मिलने वाले मानदेय से उनका घर चल रहा था। वह अब अपने बच्चों और अपने परिवार का भरण पोषण कैसे करेंगी। कहा कि यदि निगम उन्हें अन्य स्थानों पर तैनाती नहीं देता है तो वह आंदोलन को मजबूर होंगी। सहायक नगर आयुक्त चंद्रकांत भट्ट ने बताया कि रामपुर और पाडली गुर्जर में यह महिला कर्मचारी तैनात थी। दोनों क्षेत्रों के निगम से बाहर होने के कारण उन्हें हटाया गया है। इस संबंध में जैसे ही कोई निर्देश प्राप्त होंगे, उन्हें अन्य स्थानों पर तैनाती दे दी जाएगी। प्रदर्शन करने वालों में महेंद्री, सुनीता, मोनिका, रिकी, ममता, शीला, मधु, संजना, शकुंतला, मंजू एवं ममता आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस