संवाद सहयोगी, रुड़की: बोर्ड परीक्षा में कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी के लिए जरूरत पड़ने पर अब सेवानिवृत्त शिक्षकों की मदद ली जाएगी। माध्यमिक शिक्षा उत्तराखंड के निदेशक ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। परीक्षा और लोक सभा चुनाव के लिए होने वाले प्रशिक्षण के एक साथ होने के चलते यह दिशानिर्देश जारी किए गए हैं।

उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं चल रही है। परीक्षा 27 मार्च तक संपन्न होंगी। परीक्षा में अधिकांश शिक्षकों की ड्यूटी कक्ष निरीक्षक के रूप में लगी हुई है। कई ऐसे शिक्षक हैं जिनकी परीक्षा में ड्यूटी होने के साथ ही चुनाव ड्यूटी भी आ गई है। शिक्षा विभाग ने ऐसे शिक्षकों का ब्योरा मांगा है। जिनकी ड्यूटी परीक्षा में है और चुनाव प्रशिक्षण में भी उनका नाम है। ऐसे शिक्षकों को चुनाव प्रशिक्षण में भेजा जाएगा। परीक्षा ड्यूटी से उन्हें अलग कर दिया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा उत्तराखंड के निदेशक आरके कुंवर ने इस संबंध में सभी मुख्य शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं। चुनाव ड्यूटी आने के चलते परीक्षा केंद्रों में शिक्षकों की कमी हो सकती है। परीक्षा में कितने शिक्षकों की कमी है। इसकी पूर्ति अन्य शिक्षकों से करें। यदि शिक्षक नहीं मिल पाते हैं तो परीक्षा ड्यूटी में सेवानिवृत्त शिक्षकों को लगाया जाए। मुख्य शिक्षा अधिकारी हरिद्वार डॉ. रुपेंद्र दत्त शर्मा ने बताया कि इस संबंध में सभी केंद्र व्यवस्थापक को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

Posted By: Jagran