जागरण संवाददाता, रुड़की: भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी ने कहा कि भाकियू की ओर से 23 सितंबर से हरिद्वार से किसान क्रांति पद यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। यात्रा में किसानों के अलावा व्यापारी और साधु, संत भी शामिल होंगे। दो अक्टूबर को दिल्ली पहुंचकर संसद का घेराव किया जाएगा।

सोमवार को प्रशासनिक भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी ने कहा कि मौजूदा केंद्र एवं राज्य सरकार ने किसान को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है। केंद्र की सरकार किसानों की आय दोगुनी करने का ढोंग कर रही है, लेकिन किसान की फसल का घोषित मूल्य तक समय पर नहीं मिल रहा है। जिलाध्यक्ष विजय कुमार शास्त्री ने कहा कि सात सूत्री मांगों को लेकर किसान हरिद्वार से किसान क्रांति पद यात्रा शुरू करेंगे। जिले से ही करीब पांच हजार किसान इसमें शामिल होंगे। हरिद्वार से मुजफ्फरनगर, मेरठ, गाजियाबाद होते हुए यात्रा दो अक्टूबर को दिल्ली पहुंचेगी और संसद का घेराव किया जाएगा। इस मौके पर जिला प्रभारी मुफ्ती मासूम अली आदि मौजूद रहे। किसानों की मांगे

-फसल का मूल्य लागत से डेढ़ गुना अधिक दिया जाए

-देश भर के किसानों के सभी कर्ज माफ हो

-कर्ज के कारण आत्महत्या करने वाले किसानों के परिजनों को सरकारी नौकरी

-फसल बीमा योजना में बदलाव करें, किसान को माना जाए एक इकाई

-किसान की न्यूनतम आय तय हो, 60 साल के बाद किसान को छह हजार मासिक पेंशन

-¨सचाई के लिए मुफ्त मिले बिजली, पानी, ब्याज सहित हो गन्ने का भुगतान

-किसानों के पुराने ट्रैक्टर को लेकर सरकार दे नए ट्रैक्टर

Posted By: Jagran