जागरण संवाददाता, हरिद्वार: प्रदूषण मानकों का उल्लंघन कर रही सिडकुल की औद्योगिक इकाइयों पर रात में छापेमारी न करने पर डीएम दीपक रावत सख्त हो गए हैं। उन्होंने पकड़े गए मामलों में अब तक उचित कार्रवाई न करने पर पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी पीके जोशी का वेतन रोकने के आदेश दिए हैं।

जिलाधिकारी दीपक रावत ने पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी पीके जोशी को एक सप्ताह पूर्व रात में सिडकुल क्षेत्र में कैंप करने और प्रदूषण मानकों का उल्लंघन कर रही इकाइयों पर छापेमारी करने के आदेश दिए थे पर, उन्होंने अब तक ऐसा नहीं किया।

इधर, रोशनाबाद में क्षेत्र में खाली पड़े मैदान में औद्योगिक इकाइयों के छोड़े गए रसायनिक पानी को पीने से 9 मवेशियों की मौत होने के मामले में अब तक किसी भी फैक्ट्री प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। मवेशियों के पोस्टमार्टम में जहर से मौत होने की पुष्टि हुई थी। इसके बाद संदेह के घेरे में आई वीएलसीसी, वैद्या फार्मा, मील इंडिया, सहित रिहायशी अपार्टमेंट दीप गंगा को नोटिस दिया था। इसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम मनीष कुमार ¨सह ने पीसीबी की टीम के साथ हिन्दुस्तान यूनीलिवर का औचक निरीक्षण कर सैंप¨लग की थी। इसे जांच को देहरादून भेजा गया है, पीसीबी इसी जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। उधर, जिला पशु चिकित्सा अधिकारी बीसी कर्नाटक ने बताया कि अभी मवेशियों के मौत मामले में विसरा की जांच रिपोर्ट नहीं आई है। इसके आने पर ही किस जहर से मवेशियों की मौत हुई की जानकारी हो सकेगी।

Posted By: Jagran