हरिद्वार, जेएनएन। देहरादून से 14 मई को लापता हुए आइआरबी प्रथम के जवान का शव हरिद्वार में गंगनहर से बरामद हुआ है। मूलरूप से टिहरी जिले के चंबा निवासी जवान देहरादून में विधि विज्ञान प्रयोगशाला में तैनात था। जवान ने आत्महत्या की है या मौत के पीछे कोई और कारण है, यह फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। इस बारे में देहरादून की पुलिस को सूचना दी गई है।

पुलिस के मुताबिक बेलपड़ाव स्थित आइआरबी प्रथम का जवान नवीन सजवान पिछले काफी समय से देहरादून स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में तैनात चल रहा था। उसने देहरादून में ही नेहरू कॉलोनी में मकान लिया हुआ था। लेकिन बीते 14 मई को नवीन सजवान संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गया था। जवान के बारे में कुछ पता नहीं चलने पर नेहरु कॉलोनी थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। इसके बाद से ही पुलिस और जवान के परिवार के लोग उसकी तलाश में जुट गए थे। 

वहीं, मंगलवार को हरिद्वार के रानीपुर कोतवाली क्षेत्र में गंगनहर पर बने पथरी पावर हाउस में एक युवक का शव फंसा होने की सूचना पुलिस को मिली थी। कोतवाल शंकर सिंह बिष्ट, गैस प्लांट चौकी प्रभारी सतेंद्र नेगी मौके पर पहुंचे और शव को बाहर निकाला। शव की शिनाख्त आइआरबी जवान नवीन सजवान के रूप में होने पर देहरादून की पुलिस को सूचना दी गई। 

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में मां-पिता के साथ सो रही दुधमुंही बच्ची और भाई की संदिग्ध हालात में मौत

एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि शव को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है। जवान की गुमशुदगी देहरादून में पहले से दर्ज है। जांच में ही यह पता चल पाएगा कि नवीन हरिद्वार कब और क्यों आया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में युवती को गंगनहर में धक्का देने वाला प्रेमी गिरफ्तार Haridwar News

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस