हरिद्वार, जेएनएन। चेन स्नेचिंग की वारदातों में उलझी पुलिस को चोर भी आए दिन बड़े-बड़े झटके दे रहे हैं। ज्वालापुर के आर्यनगर में चोरों ने बंद मकान को निशाना बनाते हुए दो परिवारों के लाखों के जेवरात और नकदी पर हाथ साफ कर दिया। मकान मालिक सीआइएसएफ में सेक्शन अफसर हैं, जबकि किराएदार बैंककर्मी हैं। दोनों परिवार शहर से बाहर गए हुए थे। उसी दौरान चोरों ने घटना को अंजाम दे डाला। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक आर्यनगर की गली नंबर एक स्थित सुशीला सदन सीआइएसएफ के सेक्शन अधिकारी सुरेश भारद्वाज का परिवार रहता है। सुरेश भारद्वाज दिल्ली में तैनात हैं। यहां उनका बेटा दक्ष और भाई अवधेश त्रिखा रहते हैं, जबकि एक कमरा एसबीआइ में कार्यरत माला को किराये पर दिया हुआ है। शनिवार और रविवार की छुट्टी में माला अपने घर देहरादून गई थी। सुरेश भारद्वाज का बेटा व भाई का परिवार रिश्तेदारी में दिल्ली गए थे। उसी दौरान चोरों ने दोनों घरों के ताले तोड़कर करीब 25 लाख के जेवरात व लगभग पांच लाख रुपये की नगदी चोरी कर ली। माला घर लौटी तो ताले टूटे देख होश उड़ गए। उनके घर से एक सोने का कंगन और दो हजार रुपये की नगदी गायब थी। 
किराएदार ने मकान मालिक और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद ज्वालापुर कोतवाली के एसएसआइ विकास भारद्वाज ने मौका मुआयना कर घटना की जानकारी जुटाई। पुलिस ने आस पास के लोगों से भी पूछताछ की। पुलिस ने माला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया। मंगलवार को सुरेश भारद्वाज ने पुलिस को चोरी हुए जेवरात, नगदी व सामान की लिस्ट दी। रेल चौकी प्रभारी सुनील रावत ने कॉलोनी पहुंचकर पड़ताल की। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी चेक की गई है। पुलिस चोरों की तलाश में जुट गई है।
खड़खड़ी के युवक से पूछताछ
पुलिस ने आर्यनगर में चोरी के मामले में कुछ संदिग्धों को उठाया है। खडख़ड़ी के एक युवक से भी पूछताछ की गई है। वह शहर कोतवाली से पूर्व में जेल भी जा चुका है। पड़ोस में रहने वाले एक युवक को भी पकड़ा गया है। एएसपी सदर आयुष अग्रवाल ने बताया कि अलग-अलग चोरियों में संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। बहुत जल्द ही घटनाओं का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस