हरिद्वार, [जेएनएन]: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी हरभजन सिंह पतंजलि योगपीठ पहुंचे। उन्होंने पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण महाराज से मुलाकात कर आशीर्वाद लिया। पतंजलि रिसर्च सेंटर, पतंजलि हर्बल फूडपार्क का भ्रमण किया तथा दीक्षा हॉल में आचार्य की उपस्थिति में पतंजलि विश्वविद्यालय के छात्रा-छात्राओं के साथ खेल जगत से जुड़े गौरवपूर्ण संस्मरणों को साझा किया। विवि के छात्रों ने हरभजन सिंह के साथ राष्ट्रीय संदर्भ में अनेक प्रश्नों के माध्यम से जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।

क्रिकेटर हरभजन सिंह ने राष्ट्र के बलिदानियों को याद करते हुए कहा कि पतंजलि योग, आयुर्वेद, स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वदेशी अभियान देश के करोड़ों बलिदानियों के सपनों को साकार करने का कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा भगत सिंह आदि क्रांतिकारियों ने देश को अंग्रेजों से आजाद कराया, अब पतंजलि विदेशी कंपनियों की दासता से हमें मुक्त कराएगा। 

उन्होंने कहा पतंजलि का अभियान राष्ट्र निर्माण की दिव्य संकल्पना का साकार रूप है। उन्होंने कहा जिस तरह से स्वामी आचार्य बालकृष्ण के पुरुषार्थ से योग, आयुर्वेद जैसी भारत की प्राचीन विरासतें तथा भारतीय संस्कृति को वैश्विक प्रतिष्ठा मिली, इससे स्पष्ट होता है कि भारत शीघ्र ही विश्व की सुपरपॉवर बनेगा। 

इस अवसर पर पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण महाराज ने विवि के छात्रा-छात्राओं के समूह को प्रेरित करते हुए कहा कि जिस तरह हरभजन एक खिलाड़ी हैं, खिलाड़ी का संबंध सीधे अथक पुरुषार्थ से होता है और अथक पुरुषार्थ से वे क्रिकेट में शीर्ष स्थान हासिल करने में सफल हुए हैं। इसी प्रकार योग, आयुर्वेद, हेल्थ, रिसर्च, एजूकेशन, एग्रीकल्चर, इंडस्ट्री आदि हर क्षेत्रों में भारत को सक्षम बनाने हेतु सभी विद्यार्थियों व देश वासियों को नित्य 12 से 16 घंटे खिलाड़ी भाव से कठोरतम मेहनत करने की आवश्यकता है।  

यह भी पढ़ें: लिटिल स्टार ए और कोटद्वार नाइटराइडर्स की शानदार जीत

यह भी पढ़ें: गोर्खा ब्वॉयज और दून ईगल्स की फुटबाल में शानदार जीत

यह भी पढ़ें: रामनगर के अनुज का दिल्ली रणजी टीम में चयन

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस