जागरण संवाददाता, हरिद्वार: ज्वालापुर रेलवे स्टेशन पर एक मजदूर ने अचानक ट्रेन के आगे कूदकर सबकी आंखों के सामने अपनी जान दे दी। उसकी जेब से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उसने लिखा है कि वह ¨जदगी से परेशान होकर दुनिया छोड़ रहा है। जीआरपी हरिद्वार ने शिनाख्त कराते हुए परिजनों को सूचना दी। शव का पोस्टमार्टम कराया गया है।

रेलवे पुलिस के मुताबिक ज्वालापुर रेलवे स्टेशन पर मंगलवार को अहमदाबाद मेल आने वाली थी। स्टेशन पर यात्रियों की अच्छी खासी चहल-पहल बनी हुई थी। जैसे ही अहमदाबाद मेल रेलवे ट्रैक पर पहुंची, एक 44 वर्षीय शख्स अचानक ट्रेन के आगे कूद गया। ट्रेन गुजरने पर उसका क्षत-विक्षत शव ट्रैक पर पड़ा हुआ था। सूचना पर जीआरपी हरिद्वार की टीम मौके पर पहुंची। शिनाख्त कराने के लिए रेलवे पुलिस ने उसकी जेब टटोली तो सुसाइड नोट बरामद हुआ। जिसमें उसने लिखा था कि खुदकुशी के लिए वह खुद जिम्मेदार है। परिवार के किसी भी सदस्य को इसके लिए परेशान न किया जाए।

उसकी शिनाख्त शिवशंकर पुत्र सुभाष चंद्र आर्य निवासी राजा गार्डन जगजीतपुर कनखल के रूप में की। जीआरपी हरिद्वार के प्रभारी निरीक्षक राजेंद्र ¨सह ने बताया कि शिवशंकर मजदूरी कर अपने परिवार का गुजर बसर करता था। किसी कारण से वह मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

वैवाहिक जीवन बिखरने से परेशान थी युवती

हरिद्वार: सिडकुल थानाक्षेत्र की महादेवपुरम कॉलोनी में सोमवार को खुदकुशी करने वाली युवती वैवाहिक जीवन बिखरने से परेशान थी। बिजनौर से परिजनों के आने पर यह खुलासा हुआ है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि कई साल से उसका पति के साथ विवाद चल रहा था। उसने तलाक का मुकदमा भी कोर्ट में डाला हुआ था। वह घरवालों से दूर हरिद्वार में रहकर सिडकुल की फैक्ट्री में काम कर रही थी। किराये पर कमरा लिया हुआ था। कार्यवाहक एसओ भाव ¨सह चौहान ने बताया कि परिजन किसी के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं। पोस्टमार्टम के बाद शव उनके सुपुर्द कर दिया गया है।

Posted By: Jagran