जागरण संवाददाता, रुड़की : आसाम के गुहावाटी में 11 अक्टूबर को शहीद हुए रुड़की तहसील के धनौरी गांव निवासी सोनित कुमार सैनी का पूरे राजकीय सम्मान के साथ गुरुवार को अंतिम संस्कार किया गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी गांव पहुंचकर शहीद के स्वजन को ढांढस बंधाया और हर संभव मदद का भरोसा दिया।

शहीद का शव सैन्य वाहन से रुड़की लाया गया। यहां बड़ी संख्या में शहीद की अंतिम यात्रा में स्थानीय नागरिक शामिल हुए। इसके बाद शव यात्रा कस्बा भगवानपुर में पहुंची। यहां पर भी बड़ी संख्या में नागरिकों ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए। धनौरी गांव में शव यात्रा के पहुंचते ही भीड़ एकत्र हो गई। आसपास के गांव से बड़ी संख्या में ग्रामीण शहीद को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। इसी बीच मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी गांव में पहुंचकर शहीद के शव पर पुष्प चक्र अर्पित किया और स्वजन को भरोसा दिया कि सरकार की ओर से हर संभव मदद दी जाएगी। सीएम ने कहा कि सोनित कुमार सैनी ने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, विधायक प्रदीप बत्रा, सुरेश राठौर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, मुनीश सैनी, आदेश सैनी, अजय सैनी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें-21 को गढ़वाल और 24 को कुमाऊं से शुरू होगी शहीद सम्मान यात्रा, लाई जाएगी शहीदों के आंगन की मिट्टी

बसपा पदाधिकारियों ने दी श्रद्धांजलि

बहुजन समाज पार्टी के पदाधिकारियों ने भी गुरुवार केो धनौरी गांव पहुंचकर शहीद सोनित कुमार सैनी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर बसपा के प्रदेश प्रभारी मदन लाल, प्रदेश अध्यक्ष नरेश गौतम, प्रदेश उपाध्यक्ष मोहम्मद शहजाद, जिलाध्यक्ष डा. एसपी बावरा, बामसेफ जिला संयोजक खड़क सिंह, जिला सचिव राजदीप मैनवाल, ओमपाल सिंह, सुरेश कुमार, सुमित जराबरे, निसार प्रधान आदि कार्यकर्त्‍ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- त्योहारी सीजन में दून शहर में जाम, डीएम और एसएसपी ने संभाली कमान

Edited By: Sumit Kumar