रुड़की। भगवानपुर क्षेत्र के कुंजा बहादुरपुर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कुंजा बहादुरपुर को वीरों की धरती बताया। उन्होंने शहीद राजा विजय सिंह और उनके सेनापति कल्याण सिंह के नाम पर कई घोषणाएं की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीदों की शहदत को भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता संग्राम की लौ सपूतों की इस धरती से ही जली थी।
उन्होंने क्षेत्र स्थित बाल वाटिका का नाम राजा विजय सिंह के नाम पर रखने और सरोवर का सौंदर्यकरण कर उसका नाम सेनापति कल्याण सिंह के नाम पर रखने की घोषणा की।
उन्होंने राजा विजय सिंह की जीवनी स्कूली पाठक्रम में शामिल करने के अलावा बालिका छात्रवृत्ति का नाम भी राजा विजय सिंह के नाम पर रखने की घोषणा की।
इस मौके पर उन्होंने डीएम एचसी सेमवाल को धान क्रय केंद्र क्षेत्र में खुलवाने के लिए आदेशित किया। साथ ही बकाया गन्ने का 75 फीसद भुगतान नवंबर तक करने का भी भरोसा दिया।
इस मौके पर विधायक कुंवर प्रणव, विधायक ममता राकेश, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र चौधरी भी मौजूद थे।
पढ़ें-शहीद आंदोलनकारियों की बरसी पर दिया धरना

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप