रुड़की: लोन दिलाने के नाम पर एक शिक्षिका से 15 हजार की ठगी कर ली। आरोपित ने लोन दिलाने के नाम पर कागजी कार्रवाई के लिए यह रकम ली थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

तांशीपुर निवासी एक महिला गांव में ही शिक्षिका है। कुछ दिन पहले महिला के संपर्क में एक व्यक्ति आया। उसने बताया कि एक कंपनी की तरफ से सस्ते दरों पर लोन दिया जाता है। उस व्यक्ति ने उसे कंपनी के एक अधिकारी का मोबाइल नंबर भी दिया। शिक्षिका ने उस मोबाइल नंबर पर बात की तो फाइनेंस कंपनी के अधिकारी ने बताया कि उनका कार्यालय रोशनाबाद में है। उसने बताया कि लोन के लिए उन्हें महिला की फाइल बनानी पड़ेगी। जिसमें करीब 15 हजार रुपये का खर्च आयेगा। उसके झांसे में आकर शिक्षका ने घर आए उसके एजेंट को 15 हजार की रकम दे दी। जब महिला ने कुछ दिन बाद उसे नंबर पर फोन किया तो नंबर बंद मिला। महिला ने रोशनाबाद जाकर फाइनेंस कंपनी के कार्यालय का पता किया, लेकिन वहां पर आफिस नहीं मिला। शिक्षिका ने इस बावत पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच कर ही है। (जासं)

Posted By: Jagran