संवाद सहयोगी, हरिद्वार : खाद्य वस्तुओं के निर्धारित से अधिक दाम वसूलने वालों के खिलाफ तहसील प्रशासन सख्त हो गया है। शुक्रवार को आटे के निर्धारित से अधिक दाम वसूलने पर एक दुकानदार का पांच हजार रुपये का चालान काटा गया। इसके अलावा तहसीलदार ने दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाने और निर्धारित मूल्य पर ही सामान बेचने के निर्देश दिए।

शुक्रवार को तहसीलदार आशीष घिल्डियाल ज्वालापुर सब्जी मंडी के बाहर राशन की दुकानों पर बेचे जाने वाली चीजों के दामों की जांच कर रहे थे। इसी दौरान मंडी से पहले एक परचून की दुकान पर खड़े लोगों ने तहसीलदार से शिकायत की। कहा कि दुकानदार आटे का दस किग्रा का पैकेट तीन सौ बीस रुपये में बेच रहा है। इसपर तहसीलदार ने दुकानदार से पूछताछ की। दुकानदार ने बताया कि उसे भी अधिक दाम पर मिल रहा है। लेकिन जब आटे के पैकेट को देखा तो वह बिना ब्रांड का मिला। इस पर उन्होंने बाट-माप निरीक्षक निधि सक्सेना से दुकानदार का पांच हजार रुपये का चालान कटवा दिया।

उधर, सुभाष नगर में भी आटे के पैकेट अधिक दाम में बेचे जाने की शिकायत मिल रही है। लोगों का कहना है कि यहां दुकानदार मनमर्जी आटे के पैकेट के दाम वसूल रहे हैं। इस बाबत बाट-माप निरीक्षक निधि सक्सेना का कहना है कि ऐसी शिकायत उनके पास भी आई है, क्षेत्र की दुकानों पर छापा मारा जाएगा। जो भी आटे के निर्धारित से अधिक दाम वसूलते पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस