संवाद सूत्र, कलियर: शाह मंसूर गांव में बनाई गई पुलिया टूटने से ग्रामीणों को आवागमन में दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं। वहीं पुलिया क्षतिग्रस्त होने से यहां कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

खानपुर रेंज के गांव शाह मंसूर में सुविधाओं का टोटा है। सड़क, बिजली, पानी आदि मूलभूत सुविधाओं की कमी ग्रामीणों के सामने हर समय बनी रहती है। वन विभाग क्षेत्र का गांव होने के कारण यहां किसी तरह का कोई भी निर्माण वन विभाग की अनुमति के बिना नहीं किया जा सकता। गांव में हजार वर्ष पुरानी एक दरगाह है। इसमें काफी संख्या में जायरीन जियारत को आते रहते हैं, जबकि सड़क के नाम पर यहां पगडंडियां ही हैं। क्षेत्रीय निवासी शारिक पीरजी, हैदर अली, चांद मिया, अयान, मुनीर आदि ने बताया कि दो माह पहले वन विभाग ने यहां 15 लाख रुपये की लागत से पुलिया का निर्माण कराया था। उनका आरोप है कि निर्माण मानकों के अनुरूप नहीं किया गया था। ठेकेदार ने नए सरिये के साथ पुराना सरिया लगाया था। उन्होंने निर्माण के समय भी वन विभाग से शिकायत की थी, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई। पुलिया के दोनों किनारों की सुरक्षा दीवार टूट चुकी है। पुलिया में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई हैं। उधर, खानपुर रेंजर राम सिंह ने बताया कि जिस ठेकेदार ने ये पुलिया बनाई है, उसके खिलाफ विभागीय करवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप