जागरण संवाददाता, हरिद्वार: गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के योग विज्ञान विभाग में शुक्रवार को स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इसमें गुरुकुल के छात्रों, अध्यापकों कर्मचारियों एवं भारत विकास परिषद पंचपुरी शाखा के स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं ने स्वेच्छा से रक्तदान किया।

विवि के कुलपति प्रो. रूप किशोर शास्त्री ने कहा कि रक्तदान महादान है। विलुप्त हो रही जिंदगी को रक्तदान कर बचाया जा सकता है। रक्तदाताओं की खून की एक-एक बूंद बीमारी के समय पर रक्त की आवश्यकता पड़ने पर हमें खुशहाली देती है। आह्वान किया कि हर तीन माह में प्रत्येक व्यक्ति को रक्तदान अवश्य करना चाहिए। आयुर्विज्ञान एवं स्वास्थ्य संकाय के संकायाध्यक्ष प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने कहा कि यह पहल हर स्तर से होनी चाहिए। एनसीसी के समन्वयक डॉ. राकेश भूटियानी, एनएसएस के समन्वयक डॉ. मौहर सिंह मीणा ने रक्तदान करने वाले राष्ट्रीय सेवा योजना के विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया। भारत विकास परिषद पंचपुरी शाखा के सचिव डॉ. उधम सिंह ने कहा कि रक्त का दान प्रत्येक व्यक्ति को इसलिए करना चाहिए। शिविर में 125 यूनिट रक्त एकत्रित किया। दो सौ से अधिक विद्यार्थियों ने रक्तदान के लिए अपना पंजीयन कराया था। इस अवसर पर हरिद्वार जिला चिकित्सालय से डाक्टरों की टीम एवं उनके सहयोगी सहभागिता निभाई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस