जागरण संवाददाता, हरिद्वार: वरिष्ठ कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने बेरोजगारी, महंगाई, नशाखोरी, कोविड टेस्ट घोटाला मामले में भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार को घेरा। उन्होंने कहा प्रदेश सरकार ने उत्तराखंड को बहुत पीछे धकेल दिया है। दावा किया कि उत्तराखंड में बदलाव की बयार चल रही है। प्रदेश सरकार की नीतियों से त्रस्त जनता बदलाव के मूड में है। विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाएगी।

प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते संजय निरुपम ने प्रदेश सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया। कहा कि उत्तराखंड जैसे छोटे राज्य में देश के अन्य राज्यों के मुकाबले महंगाई और बेरोजगारी सर्वाधिक है। सरकार महंगाई को नियंत्रित करने में नाकाम रही है। तमाम खाद्य पदार्थो के दाम आम आदमी की पहुंच से बाहर हैं। कांग्रेस शासन में साढ़े चार सौ रुपये में मिलने वाला रसोई गैस सिलिंडर एक हजार रुपये में मिल रहा है। संजय निरूपम ने कहा कि कोरोना काल में व्यापारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ा। सभी राज्य सरकारों ने व्यापारियों को कुछ न कुछ राहत अवश्य दी, लेकिन उत्तराखंड की भाजपा सरकार ने व्यापारियों को कोई राहत नहीं दी। कांग्रेस सरकार बनने पर महंगाई को नियंत्रित किया जाएगा। युवाओं को रोजगार देने के साथ व्यापारियों को भी राहत दी जाएगी। इसके लिए रोडमैप तैयार किया जा रहा है। जिसे घोषणा पत्र के जरिये जनता के सामने रखा जाएगा। कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर कोरोना टेस्ट घोटाले की जांच कराकर दोषियों को सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हरिद्वार विश्व प्रसिद्ध धार्मिक नगरी है। पाबंदी के बावजूद अवैध शराब और स्मैक का कारोबार होना बेहद चितनीय और स्थानीय भाजपा विधायक की विफलता है। जनता भाजपा विधायक के बीस वर्षो के कार्य पर प्रश्नचिह्न लगा रही है। उन्होंने दावा किया कि हरिद्वार में एंटी इनकंबेंसी है। जिसका फायदा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा। हरिद्वार नगर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सतपाल ब्रह्मचारी ने कहा कि हरिद्वार को नशे के कारोबार से मुक्ति दिलाना उनका लक्ष्य है। सामाजिक प्रतिबद्धता का पालन करते हुए हरिद्वार को नशा मुक्त, रोजगार युक्त शहर बनाया जाएगा। युवा पीढ़ी को बर्बादी की तरफ धकेल रही स्मैक के कारोबार पर पूरी तरह लगाम लगायी जाएगी। उन्होंने कहा कि चुनाव को लेकर कांग्रेस पूरी तरह एकजुट है। इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता गरिमा दसोनी, एडवोकेट अरविद शर्मा, वीरेंद्र श्रमिक, नितिन तेश्वर समेत कई कार्यकत्र्ता मौजूद रहे।

Edited By: Jagran