रुड़की, [जेएनएन]: रुड़की में बंगाल इंजीनियरिंग ग्रुप का स्थापना दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। समारोह में लेफ्टिनेंट जनरल श्रीवास्तव मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बंगाल इंजीनियरिंग एंड ग्रुप का इतिहास बेहद गौरवमयी  रहा है। उन्होंने बताया कि 1962, 1971 और कारगिल युद्ध में  बीईजी का प्रदर्शन बेहद सराहनीय रहा। 

बंगाल इंजीनियरिंग सेंटर का 215 वां स्थापना दिवस समारोह मनाया गया। इस अवसर पर परेड का आयोजन किया गया। परेड के मुख्य अतिथि ले.जनरल एसके श्रीवास्तव रहे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि 1849 में बीईजी के बारह सैनिकों को मेडल प्राप्त हुआ था, जो किसी भारतीय के लिए सबसे पहला सेना मेडल था। 

उन्होंने बताया कि देश में 1962, 1971 और कारगिल युद्ध के दौरान बीईजी ने सराहनीय प्रदर्शन किया। देश के आंतरिक शांति और विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में भी बंगाल इंजीनियर ग्रुप के बहादुर सिपाहियों ने सराहनीय योगदान दिया है। बंगाल इंजीनियरिंग ग्रुप एक ऐसा इंस्टिट्यूट है जिसके 11 जवानों को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।  देश नहीं, बल्कि विदेशों में भी बीईजी की विशिष्ट पहचान है।

यह भी पढ़ें: भारतीय पर्वतारोहण एवं स्कीइंग संस्थान ने मनाया स्थापना दिवस

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड पुलिस की मुख्य धारा में शामिल हुए 175 आरक्षी

यह भी पढ़ें: मुख्यधारा में शामिल हुर्इं 163 महिला आरक्षी, अब पोस्टिंग की तैयारी

Posted By: raksha.panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस