जागरण संवाददाता, हरिद्वार: Ayodhya SriRam Mandir श्रीपंचायती अखाड़ा निरंजनी के श्री महंत और मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष  श्री महंत रविंद्र पुरी ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 21 लाख रुपये दिए हैं। अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने गुरुवार को विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम् सिंह को 21 लाख का चेक सौंपा।इस मौके पर उन्होंने श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण में सभी संत और महात्माओं से का अधिक से अधिक योगदान करने को आवाहन किया। उन्होंने इस मामले में सहयोग करने के लिए एक प्रस्ताव लाने की घोषणा भी की है। 

श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि भगवान श्रीराम हम सबके प्रभु है। हम सबके कण-कण में भगवान श्रीराम बसते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम के मंदिर के लिए सहयोग करने की अभी शुरुआत की है। श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने कहा कि सभी संत और महात्मा श्रीराम मंदिर निर्माण में सहयोग करें, इसके लिए एक प्रस्ताव पारित करने जा रहे हैं। विहिप के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी ने कहा कि भगवान श्री राम मंदिर समर्पण निधि के लिए पंचायती श्री निरंजनी अखाड़ा की ओर से 21 लाख रुपये का चेक दिया गया है। इससे पूरे देश में संदेश जाएगा कि अन्य लोग भी प्रेरित होकर इसमें आगे आएंगे। कहाकि पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी शुरू से ही श्रीराम मंदिर निर्माण के आंदोलन के लिए सहयोग करता आया है।

यह भी पढें-राम मंदिर निर्माण: 24 लाख परिवारों से सहयोग लेने टोलियां हुईं रवाना, पांच फरवरी तक चलेगा अभियान

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख पदम सिंह ने कहा कि पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी हमेशा से ही धर्म कर्म और सामाजिक कार्यों में सर्वोच्च भूमिका निभाता आया है। मंदिर निर्माण में हर व्यक्ति अपना योगदान दे रहा है। संत महंतों के आशीर्वाद से विश्व का सबसे बड़ा दिव्य और भव्य श्री राम मंदिर बनने जा रहा है। इस अवसर पर श्रीमहंत राम रतन गिरी, महंत मनीष भारती, महंत राधे गिरी, महंत नरेश गिरी, महंत केशव पुरी, मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी अनिल शर्मा, विहिप के जिलाध्यक्ष नितिन गौतम, जिला धर्माचार्य संपर्क प्रमुख मयंक चौहान, विभाग संगठन मंत्री अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद राहुल सारस्वत आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें- ऋषिकेश में टाट वाले बाबा ने श्री राम मंदिर को समर्पित किए एक करोड़ रुपये

 

Edited By: Sumit Kumar