जागरण संवाददाता, रुड़की: अतिक्रमण के दौरान नगर निगम के कर्मचारियों से मारपीट और पुलिस टीम पर हमला करने वाले लोगों की गिरफ्तारी में पुलिस ठिठक गई है। जिस गति से पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू की थी, वह तेजी अब पुलिस में नहीं दिख रही है। आरोपित भी बिना किसी डर के खुले घूम रहे है।

करीब दो माह पहले नगर निगम और प्रशासन की टीम मच्छी बाजार से अतिक्रमण हटाने गई थी। इसी दौरान मच्छी मौहल्ला के लोगों और दुकानदारों ने नगर निगम टीम के दो कर्मचारियों के साथ मारपीट कर दी थी। जिसमें एक कर्मचारी के कपड़े भी फट गए थे। इसके बाद भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने पुलिस पर भी हमला करते हुए पथराव किया था। पथराव की चपेट में आकर नगर निगम के कई वाहनों के शीशे टूट गए थे। इस मामले में 20 से 25 लोगों के खिलाफ बलवे और सरकारी कामकाज में बाधा डालने समेत कई धाराओं में मुकदमा किया था। पुलिस अभी तक इस मामले में एक भी गिरफ्तारी नहीं कर पाई है। घटना के कुछ दिन तो हमलावर पुलिस के डर से भूमिगत हो गए थे, लेकिन अब आरोपित खुले घूम रहे हैं। पुलिस भी अब उनकी गिरफ्तारी में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। जबकि पुलिस ने आरोपितों की गिरफ्तारी के कई दावे किए थे। एसपी देहात मणिकांत मिश्रा का कहना है कि आरोपितों को चिह्नित किया जा रहा है। शीघ्र ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।

Posted By: Jagran