जागरण संवाददाता, हरिद्वार: शहर की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की मांग को लेकर शहरी विकास मंत्री कार्यालय पर प्रदर्शन को जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार कर लिए गए। आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने सड़क पर ही मंत्री के खिलाफ नारेबाजी कर धरना शुरू कर दिया। बाद में पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर उनका शांतिभंग में चालान कर दिया। इसके बाद में ज्वालापुर कोतवाली से सभी को निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया।

कांग्रेस शहर महासचिव दीपक टंडन के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के खन्ना नगर स्थित कार्यालय पर प्रदर्शन को कूच किए। यहां पहले से तैनात पुलिस बल ने खन्ना नगर जाने वाली गली पर रस्सा लगाकर कार्यकर्ताओं को रोक दिया। इस पर हाथों में बैनर पोस्टर लिए कार्यकर्ता सड़क पर ही नारेबाजी करने लगे। जबरन गली में जाने का प्रयास करने पर कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोक दिया। इस पर कार्यकर्ता सड़क पर ही मंत्री के विरोध में नारेबाजी करने लगे। दीपक टंडन ने कहा कि शहर की सड़कों का बुरा हाल है। जगह-जगह गहरे गड्ढों में गिरकर लोग चोटिल हो रहे हैं। हाईवे चैड़ीकरण कार्य भी अधर में है। आधे अधूरे और गड्ढा युक्त हाईवे पर अब तक कई मौतें हो चुकी हैं, लेकिन शहरी विकास मंत्री जनता की कोई सुध नहीं ले रहे हैं। युवा कांग्रेस के शहर अध्यक्ष नितिन तेश्वर और जिला उपाध्यक्ष रवि बहादुर इंजीनियर ने कहा कि शहरी विकास मंत्री को शहर के विकास से कोई लेना नहीं है। सड़कों से लेकर सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है। पार्षद राजीव भार्गव, सचिन अग्रवाल, विकास कुमार आदि ने कहा कि डबल इंजन सरकार विकास के दावे तो कर रही है लेकिन धरातल पर विकास दिखाई नहीं दे रहा है। गिरफ्तार किए गये इंजीनियर रवि बहादुर, वरुण बालियान आदि ने पुलिस वाहन में ही जमकर शहरी विकास मंत्री के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान कई कार्यकर्ता वाहन के आगे बैठ गए। प्रदर्शन करने वालों में पार्षद राजीव भार्गव, सचिन अग्रवाल, सुमित भाटिया, विशाल राठौर, विकास कुमार, जितेंद्र सिंह आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप