जागरण संवाददाता, रुड़की। कलियर थाना क्षेत्र के मेहवड़ गांव में असामाजिक तत्वों ने डॉ. भीम राव आंबेडकर की मूर्ति को खंडित कर दिया। इस बात की जानकारी मिलने पर ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया। सूचना पर पुलिस प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए। नई मूर्ति लगाने का प्रयास किया गया, लेकिन ग्रामीण नई मूर्ति लगाने का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि पहले आरोपितों को गिरफ्तार किया जाए, तभी मूर्ति लगेगी।

मेहवड़ गांव के समीप एक प्लाट में डॉ. भीम राव आंबेडकर की प्रतिमा लगी है। रात को किसी समय कुछ असामाजिक तत्वों ने मूर्ति को खंडित कर दिया। सुबह जब ग्रामीण खेतों की ओर जा रहे थे, तब उन्होंने देखा कि मूर्ति खंड़ि‍त है। इसके बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हो गए। पुलिस-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इस बात की जानकारी मिलते ही अपर उप जिलाधिकारी पूरण सिंह राणा, पुलिस अधीक्षक देहात प्रमेंद्र डोबाल कई थानों की पुलिस लेकर मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन ग्रामीण आक्रोशित है और मूर्ति स्थल पर ही धरना देकर बैठ गए हैं। 

तीन साल पहले भी यहां पर मूर्ति हुई थी खंडित

बताते चले कि तीन साल पहले भी यहां पर मूर्ति खंडित करने को लेकर बवाल हो गया था। दो पुलिसकर्मी भी पथराव में घायल हो गए थे। तब भी प्रशासन ने बड़ी मुश्किल से बवाल को शांत कराया था। मुकदमा दर्ज किया गया था, लेकिन मूर्ति तोड़ने वालों का पता नहीं चल सकता था। पुलिस अब आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाल रही है।

यह भी पढ़ें-देहरादून में मारपीट में 16 व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें