संवाद सूत्र, लक्सर: गंगनौली गांव में बरातघर की भूमि को लेकर दो पक्षों में मारपीट के मामले में अनूसूचित जाति के लोगों ने पुलिस पर एकपक्षीय कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। अनूसूचित जाति की महिलाओं ने एएसपी से मिलकर मामले में आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की।

लक्सर कोतवाली के गंगनौली गांव में एक भूमि को लेकर दो पक्षों के बीच विवाद चल रहा था। विवादित भूमि पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के बीच आए दिन होने वाले विवादों को देखते हुए बरात घर का निर्माण कराया था, लेकिन इसके बाद भी दोनों पक्षों के बीच तनाव व्याप्त था। इसी को लेकर चार जुलाई को दोनों पक्षों के बीच मारपीट हो गई थी। एक पक्ष की ओर से मिमला देवी की ओर से आरोपित अंकित, ऋषिपाल, विनय, रोहित, धर्मवीर, धर्मेन्द्र, सोनू सात लोगों पर अपने परिजनों के साथ मारपीट करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जबकि दूसरे पक्ष की ओर से महिला संतोष देवी की ओर से आरोपित नित्तरपाल, नीटू व सेठपाल व दो अज्ञात पर मारपीट का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया था। क्रास रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने एक पक्ष के अंकित व टोनी को गिरफ्तार कर चालान कर दिया था। इस बीच अनूसूचित जाति की महिलाएं मंगलवार को एएसपी रचिता जुयाल से मिली तथा उन्हें बताया कि पुलिस ने मामले में एकपक्षीय कार्रंवाई का आरोप लगाया। एएसपी से आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। शिकायत करने वाली महिलाओं में संतोष, राजकुमारी, रामरती, सोनिया, रविता, मेश, छोटी, केमता, अमरेश, बबली, मुनेश देवी आदि महिलाएं शामिल थी। एएसपी रचिता जुयाल ने मामले में निष्पक्ष जांच करने व दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन महिलाओं को दिया।

Posted By: Jagran