जागरण संवाददाता, हरिद्वार: बाबा रामदेव के चालक को कथित तौर पर घूस देने के मामले मे आरोपी खोजी पत्रकार की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बाबा समर्थकों ने कनखल थाना घेरा। बाबा समर्थकों ने पुलिस पर गिरफ्तारी में हीलाहवाली का आरोप लगाते हुए थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया। गिरफ्तारी न होने तक आंदोलन जारी रखने का ऐलान किया गया।

बाबा रामदेव के बारे में विभिन्न जानकारी देने के लिए दिल्ली खोजी पत्रकार पुष्प शर्मा ने कथित तौर पर बाबा के चालक को रिश्वत की पेशकश की थी, इस मामले में कनखल थाने में मुकदमा भी दर्ज किया गया। लेकिन, उसके बाद आरोपी पत्रकार की गिरफ्तारी नहीं हो पाई। रविवार को भारत स्वाभिमान ट्रस्ट कार्यकर्ताओं ने कनखल थाने का घेराव किया और आरोपी पत्रकार की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस ने बाबा के समर्थकों को थाने के बाहर गेट पर ही रोक दिया। बाबा के कुछ समर्थकों ने थानाध्यक्ष से मुलाकात कर केस के बारे में जानकारी ली। थानाध्यक्ष ने उन्हें बताया कि मामले के जांच अधिकारी अभी अवकाश पर हैं। पुलिस पूरे मामले को गंभीरता से ले रही है। जो भी कानूनी प्रक्रिया होगी वह पूरी की जाएगी। बाद में बाबा समर्थक थाने के बाहर ही गेट पर धरने पर बैठ गए। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के केंद्रीय प्रभारी डॉ. जयदीप आर्य ने कहा कि बाबा रामदेव के आंदोलन से घबराई सरकार ने उनके पीछे कई एजेंसियां लगा रखी है। लेकिन पतंजलि की ओर से दर्ज मुकदमें में कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। करीब तीन घंटे बाबा के समर्थक थाने के बाहर ही धरने पर बैठे रहे। सोमवार को फिर कनखल थाने का घेराव व धरना दिया जाएगा। ट्रस्ट का कहना है कि आंदोलन अभी जारी रहेगा। इस दौरान भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की महिला केंद्रीय प्रभारी डॉ. सुमन, राज्य प्रभारी दीपा शर्मा, मंडल प्रभारी राजेंद्र त्यागी, राकेश कुमार आदि मौजूद थे।

सतर्क रही पुलिस

कनखल थाना घेरने के लिए बाबा रामदेव के भी पहुंचने की खबरों के बाद पुलिस अलर्ट हो गई थी। खुफिया विभाग बाबा की गतिविधियों पर नजर रखता रहा। बाबा पतंजलि से तो निकले, लेकिन कनखल स्थित दिव्य योग मंदिर आकर रुक गए। यहां से कुछ दूर ही कनखल थाना है, लेकिन बाबा घेराव में शामिल नहीं हुए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर