जागरण संवाददाता, रुड़की: जल संस्थान के कार्यालय में शिकायत लेकर आने वाले उपभोक्ताओं को बुधवार को अधिकारियों का कई घंटे तक इंतजार करना पड़ा। जिस वजह से उपभोक्ताओं को परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं विभाग के कार्यालय में एक के बाद एक पेयजल एवं सीवर से संबंधित समस्याओं की शिकायत लेकर लोगों के आने का सिलसिला जारी रहा।

गर्मी बढ़ते ही शहर में पेयजल की किल्लत बढ़ गई है। किसी कॉलोनी एवं मोहल्ले में लाइनों में लीकेज हो रहा है तो कहीं पर दूषित पानी आने से उपभोक्ता परेशान हैं। बुधवार को भी जल संस्थान के कार्यालय में बड़ी संख्या में उपभोक्ता पानी की आपूर्ति बाधित होने, लो प्रेशर, सीवर चोक आदि समस्या लेकर पहुंचे, लेकिन दोपहर सवा 12 बजे तक भी सहायक अभियंता और अपर सहायक अभियंता लोगों को कार्यालय में नहीं मिले। प्रेमनगर से पहुंची दीपिका ने बताया कि वह सुबह दस बजे ही जल संस्थान के कार्यालय में आ गई थी। दो घंटे से अधिक समय हो गया है, लेकिन अभी तक अधिकारी नहीं मिल सके हैं। बताया कि उनके घर में पिछले 20 दिनों से पानी नहीं आ रहा है। जिस वजह से काफी परेशानी हो रही है। ओल्ड रेलवे रोड निवासी राकेश अग्रवाल ने बताया कि उनकी गली में पिछले कई दिनों से सीवर बह रहा है। कई बार समस्या से विभाग के जेई को अवगत करवा चुके हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं हो रहा है। कार्यालय के चक्कर काट-काटकर थक गए हैं। इमली रोड निवासी निसार अहमद ने कहा कि उन्होंने नई पेयजल लाइन से कनेक्शन लिया है लेकिन उसमें पानी नहीं आ रहा है। जिस कारण उन्हें काफी दिक्कत हो रही है। रामनगर निवासी दिलीप कुमार ने बताया कि रामनगर की गली नंबर चार एवं पांच में सीवर बह रहा है। जिस वजह से काफी परेशानी हो रही है। इसी प्रकार से कई अन्य लोग भी कार्यालय में सीवर एवं पेयजल की शिकायत लेकर पहुंचे। दोपहर सवा बारह बजे के बाद एई और जेई कार्यालय पहुंचे। इस दौरान शिकायत लेकर कार्यालय में आए कुछ लोगों की जेई के साथ तीखी बहस भी हुई। उधर, जल संस्थान के सहायक अभियंता राजेश कुमार निर्वाल के अनुसार कुछ स्थानों पर पेयजल लाइनों में लीकेज की शिकायत मिली थी। इसलिए वे मौके पर निरीक्षण के लिए गए थे। जिस कारण उन्हें कार्यालय पहुंचने में समय लग गया। कहा कि विभाग की ओर से उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। पड़ गया गंदी वाली गली का नाम

रुड़की: सिविल लाइंस जादूगर रोड निवासी सुभाष चंद अरोड़ा और उनके पुत्र अमित अरोड़ा जल संस्थान के कार्यालय में उनकी गली में सीवर बहने की शिकायत लेकर पहुंचे। उन्होंने कहा कि वैसे तो वह पॉश इलाके में रहते हैं लेकिन अब उनकी गली गंदी वाली गली के नाम से जानी जाती है। क्योंकि यहां पर पिछले काफी समय से सीवर बह रहा है। जिस कारण यहां गंदगी रहती है। कहा कि कई बार शिकायत दर्ज करवा चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप