संवाद सूत्र, मंगलौर: पीरपुरा में महिला को मुक्त कराने पहुंचे परिजनों पर दूसरे पक्ष ने पथराव करते हुए हमला कर दिया था। जिसमें दो लोग घायल हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने महिला समेत 11 लोगों पर बलवे का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के तेलीवाला गांव निवासी असगर की पुत्री रेशमा का विवाह कस्बे के पीरपुरा मोहल्ला निवासी हुसनैन के साथ हुआ था। हुसनैन ने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया था। इसके बाद भी वह ससुराल में रह रही थी। मंगलवार को परिजनों को पता चला कि रेशमा को बंधक बनाकर रखा गया है। सूचना पर रेशमा का भाई उल्फत और मुजफ्फर पीरपुरा पहुंचे। भाई उसे मुक्त कराने के लिए मकान का ताला तोड़ने लगे तो दूसरे पक्ष के लोग लाठी डंडे लेकर मौके पर आ गए और उन पर हमला कर दिया। इसके बाद मौके पर पथराव भी हो गया। जिससे अफरातफरी मच गई। हमले में रेशमा, मुजफ्फर और उल्फत समेत अन्य लोग घायल हो गए थे। इस मामले में रेशमा के भाई ने पुलिस को तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर उस्मान, इरफान, शाहरूख, महफूज, दाऊद, रहमान, हसनैन, जहीर, मीना, सलमान और आजम पर बलवे व मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप