देहरादून, जेएनएन। मालदेवता में पिकनिक मनाने आया फरीदाबाद का युवक नहर में बह गया। युवक को बहता देख उसकी दोस्त ने शोर मचाना शुरू किया तो आसपास घूम रहे पर्यटक इकट्ठा हो गए और रायपुर पुलिस को सूचना दी। पुलिस और एसडीआरएफ की टीम युवक की तलाश की, लेकिन देर शाम तक उसका कहीं पता नहीं चला। एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि एसडीआरएफ की टीम ने बालावाला तक नहर में सर्च कर चुकी है। परिजनों को युवक के नहर में डूबने की सूचना दे दी गई है। 

पुलिस के अनुसार, लापता युवक की पहचान अतुल पाराशर (32) पुत्र जय किशन पाराशर निवासी ग्राम टिगोन, फरीदाबाद, हरियाणा के रूप में हुई है। उसकी देहरादून के अजबपुर स्थित एक शैक्षणिक संस्थान में काम करने वाली युवती से कुछ महीने पहले फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। युवती ने पुलिस को बताया कि वह रविवार को देहरादून आया था। यहां युवती स्कूटी से उससे मिलने पहुंची, जिसके बाद दोनों मालदेवता में पिकनिक मनाने चले गए।

दोपहर बाद दोनों मालदेवता से शहर आने की सोच ही रहे थे, तभी अतुल एक पत्थर पर खड़े होकर वहां घूम रहे लोगों से पूछने लगा कि नहर में कितना पानी है। इस बीच वह लड़खड़ा कर नहर में गिर गया। नहर में पानी का बहाव तेज होने के कारण वह खुद को संभाल न सका और धारा के साथ बहने लगा। यह देख युवती ने शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुन आसपास घूम रहे पर्यटक एकत्रित हो गए, लेकिन तब तक अतुल में नजरों से ओझल हो चुका था। स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी रायपुर पुलिस को दी।

इंस्पेक्टर रायपुर देवेंद्र सिंह चौहान ने एसडीआरएफ की टीम को युवक के लापता होने की जानकारी दी। करीब आधे घंटे में मौके पर पहुंचे एसडीआरएफ के गोताखोरों ने अंधेरा होने के बाद भी शाम के सात बजे तक मालदेवता से बालावाला तक युवक की तलाश की, लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चला। 

घर वालों को बिना बताए आया था दून

एसपी सिटी ने बताया कि अतुल का मोबाइल उसके बैग में ही मिल गया। ऐसे में सेल्फी लेते समय हादसा होना नहीं लग रहा है। युवती से घटनाक्रम के बारे में पूछताछ की जा रही है। वहीं, अतुल के घर वालों से जब उसके बारे में पूछताछ की गई तो उनकी बातों से लगा कि अतुल घर वालों को बिना बताए देहरादून आया था। फिलहाल परिवार के लोगों के देहरादून पहुंचने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। अतुल गुरुग्राम की एक कंपनी में नौकरी करता है। माना जा रहा है कि वह गुरुग्राम से रविवार की सुबह ही देहरादून पहुंचा था। 

हादसे का पर्याय बनते जा रहे पिकनिक स्पॉट

देहरादून के पर्यटक स्थल हादसे का पर्याय बनते जा रहे हैं। सहस्रधारा, गुच्चूपानी, मालदेवता, लच्छीवाला में बीते एक साल के दौरान आधा दर्जन हादसे हो चुके हैं। हादसों का सबसे बड़ा कारण लोगों की लापरवाही बनती है, फिर भी वह पुलिस व आसपास के लोगों की चेतावनी को नजरअंदाज कर मनमानी करने से नहीं चूकते।

इन बातों पर दें ध्यान

- पहाड़ी नदियों में बहाव काफी तेज होता है, लेकिन उसका अंदाजा पानी को देख कर नहीं हो पाता। 

- पत्थरों पर खड़े होकर सेल्फी लेने से बचें। ऐसा करते समय पूर्व में कई हादसे हो चुके हैं।

- पुलिस और पर्यटन विभाग की ओर से लगाए गए चेतावनी बोर्ड के निर्देशों का पालन करें। 

- पर्यटक स्थलों पर नदी या नहर में गहरे पानी में उतरने से बचें। 

- शराब या नशीले पदार्थों का सेवन कर पर्यटक स्थलों से गुजरने वाली नदी या नहर में न उतरें।

- बच्चों पर विशेष ध्यान दें। उन्हें किनारे पर खड़ा न होने दें। 

एसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि पर्यटक स्थलों पर चेतावनी बोर्ड लगाए गए हैं। जिस पर गहरे पानी में न उतरने की सलाह लिखी गई है। प्रयास है कि अब से हर पिकनिक स्पॉट पर फोर्स की तैनाती की जाए। इस पर विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: सेल्फी लेने के चक्कर में गंगनहर में गिरा युवक, लापता

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप