देहरादून, जेएनएन। दून के युवा क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन ने कहा कि उन्हें अपने प्रदर्शन पर भरोसा है। वह किसी भी परिस्थिति में टीम के लिए पूर्ण योगदान देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह टीम में चयन के बारे में नहीं सोचते और उनका ध्यान सिर्फ अपने प्रदर्शन पर केंद्रित रहता है।

राजपुर रोड निवासी अभिमन्यु ईश्वरन दिलीप ट्रॉफी में इंडिया रेड टीम से खेलकर सोमवार को देहरादून लौटे हैं। बीसीसीआइ का घरेलू सत्र शुरू होने से पहले अभिमन्यु अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए पहुंचे हैं। 

उन्होंने कहा कि अपने देश के लिए खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है, मेरा भी है। मैं चयन के बारे में सोचने की बजाय अपने खेल पर ज्यादा ध्यान देता हूं। बता दें कि अभिमन्यु देहरादून में गुनियाल गांव स्थित अभिमन्यु क्रिकेट ऐकेडमी के संचालक आरपी ईश्वरन के बेटे हैं। हॉल ही में अभिमन्यु इंडिया ए टीम के साथ वेस्टइंडीज दौरे से लौटे। इस दौरे में अभिमन्यु ने शानदार प्रदर्शन किया। 

बता दें कि अभिमन्यु ईश्वरन पिछले कई साल से घरेलू क्रिकेट बंगाल से खेल रहे हैं। 2018-19 के रणजी सत्र में उनका प्रदर्शन शानदार रहा। उन्होंने छह मैचों में 861 रन बनाए। इसके अलावा अभिमन्यु ने श्रीलंका ए टीम के खिलाफ 233 रन की पारी खेली।

बंगाल की कमान मिलने पर खुश हूं

बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन ने हॉल ही में अभिमन्यु ईश्वरन को सीनियर टीम की कमान सौंपी है। इस पर अभिमन्यु ने कहा कि वह टीम की कमान मिलने से खुश हैं। टीम में सीनियर खिलाड़ी शामिल हैं, उनके सहयोग से टीम को आगे ले जाने के लिए प्रयास किए जाएंगे। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की अंडर 19 टीम के लिए फाइनल ट्रायल को 115 खिलाड़ी चयनित 

उन्होंने कहा कि कप्तान के साथ-साथ मैं एक बल्लेबाज भी हूं, ऐसे में बल्लेबाजी क्रम को मजबूती देना भी उनकी प्राथमिकता होगी। घर वापसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में कुछ नहीं सोचा है। फिलहाल वह बंगाल से ही खेलना जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के छह पदों के लिए छह नामांकन, निर्विरोध निर्वाचन तय

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप