जागरण संवाददाता, हरिद्वार। योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने पतंजलि योग पीठ में गणतंत्र दिवस के अवसर पर 108 फीट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस अवसर पर बाबा रामदेव ने कहा कि इस बार विधानसभा चुनावों में जोरदार टक्कर देखने को मिलेगी। आगे कहा कि वह खुद न किसी के पक्ष में हैं और न विपक्ष में। वह निष्पक्ष हैं।

पतंजलि योगपीठ में योग गुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत की आन बान और शान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया। पतंजलि योगपीठ स्थित 108 फीट के राष्ट्रीय ध्वज को फहराते समय आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में रामदेव के अनुयायी, पतंजलि का स्टाफ और स्कूली छात्र छात्राएं सभी धर्मों के धर्म गुरु मौजूद रहे। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। इस दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर पंतजलि द्वारा तीन बड़े कीर्तिमान स्थापित करने की बात कही। योगगुरु बाबा रामदेव ने राजनीति पर ज्यादा कुछ ना बोलते हुए सिर्फ इतना कहा कि इस बार चुनाव में मामला टक्कर का है। और वह खुद ना किसी के पक्ष में हैं ना विपक्ष में है। वह निष्पक्ष है।

विभिन्न राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव पर बोलते हुए योग गुरु बाबा रामदेव का कहना है कि मैं राजनीतिक भविष्यवाणी नहीं करता हूं। मगर इतना मानता हूं कि योगधर्म और राष्ट्रधर्म का एक अनूठा संगम देश में चल रहा है। आजादी के 75 वर्षों बाद देश में कम से कम ऐसा हो रहा है की एमएलए, एमपी, सीएम, पीएम सब योग कर रहे हैं। उत्‍तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और पूर्वोत्तर में चुनाव के मद्देनजर मामला संघर्ष का है। इस बार चुनाव में जोरदार टक्कर है। हमारा सब को आशीर्वाद है। क्योंकि हम सर्वदलीय हैं। योगगुरु बाबा रामदेव से पूछा गया कि यूपी में किसकी सरकार बन रही है, तो बाबा योगगुरु रामदेव इस सवाल को टाल दिया।

गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत की आन-बान और शान तिरंगे को फहराने के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव की राष्ट्रीय समिति जो प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा गठित की गई है, उसमें प्रधानमंत्री द्वारा मुझे भी सदस्य बनाया गया है। आजादी के अमृत महोत्सव में हमारे द्वारा भी आहुति दी जा रही है और इस बार हम तीन बड़े काम कर रहे हैं।

आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर पतंजलि द्वारा 75 करोड़ सूर्य नमस्कार का कीर्तिमान बनाया जाएगा, जो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा। दूसरा पतंजलि द्वारा आत्म निर्भर भारत बनाने के लिए कार्य किया जा रहा है। तीसरा पतंजलि द्वारा स्वदेशी समृद्धि कार्ड देश को समर्पित किया जाएगा, जिसमें ढाई से पांच लाख तक का बीमा और दूसरी योजनाएं शामिल है। हमारा ध्येय है कि हम इस देश में अपने उन शहीदों के सपनों को पूरा करने के लिए, जिन्होंने देश के लिए अपने  प्रण निछावर कर दिए उनके सपनों को जमीन पर उतारने में पतंजलि लगा हुआ है।

यह भी पढ़ें:-Republic Day 2022: जानिए ब्रह्मकमल टोपी के बारे में, जिसे गणतंत्र दिवस पर पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने पहना

Edited By: Sunil Negi