ऋषिकेश, [जेएनएन]: अहं ब्रह्मस्मि योग मंदिर ट्रस्ट के तत्वावधान में शिव गंगा धाम आश्रम लक्कड़घाट में आयोजित निश्शुल्क योग चिकित्सा शिविर में हृदय रोग व मधुमेह से बचाव की जानकारी दी गई। 

शिविर में योगीराज कर्णपाल महाराज ने लोगों को योगाभ्यास कराए। उन्होंने बताया कि योग से हृदय रोग व मधुमेह का उपचार संभव है। यदि हम अपनी रक्त नलिकाओं को साफ कर लें और प्राण ऊर्जा का स्तर बढ़ा लें तो हमारे अंदरुनी अंग सक्रिय हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि मानव शरीर में हृदय एक अहम अंग है।

हृदय को प्राण का संचालन सही तरह से मिल जाए तो बेहतर स्वास्थ्य के साथ दीर्घायु भी मिलती है। उन्होंने कहा कि पेनक्रियाज ग्रंथी को योग के माध्यम से सही कर मधुमेह रोग पर काबू पाया जा सकता है। सरिता नेगी ने भुजंगासन, पवनमुक्तासन, मरकटासन, शलभासन, प्राण संचालजन क्रिया का अभ्यास कराया।  

यह भी पढ़ें: योग की इन कलाओं से जुड़कर आप पा सकते हैं सुखी जीवन

यह भी पढ़ें: योग और ध्यान कर पाएं निरोगी और स्वस्थ काया 

Posted By: Raksha Panthari