ऋषिकेश: यमकेश्वर प्रखंड में स्थित पौराणिक नीलकंठ महादेव मंदिर में श्राइन बोर्ड गठन की मांग प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंची है। सामाजिक कार्यकर्ता अजय कुमार ने प्रधानमंत्री से जनहित में यहां वैष्णो देवी की तर्ज पर श्राइन बोर्ड के गठन की मांग की है।

दूधली बुल्लावाला डोईवाला निवासी सामाजिक कार्यकर्ता अजय कुमार ने प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर अवगत कराया कि श्रावण मास सहित महाशिवरात्रि पर नीलकंठ महादेव मंदिर में लाखों श्रद्धालु प्रतिवर्ष जलाभिषेक के लिए आते हैं। मंदिर में श्राइन बोर्ड के गठन की मांग को लेकर वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी इंद्रदत्त शर्मा व प्रधान संगठन के पूर्व अध्यक्ष सत्यपाल ¨सह पयाल ने लंबी लड़ाई लड़ी। इस दौरान दोनों को हादसे में अपनी जान गंवानी पड़ी। अजय कुमार ने पत्र में कहा कि नीलकंठ मंदिर में श्राइन बोर्ड के गठन का प्रस्ताव जिलाधिकारी पौड़ी द्वारा शासन को भेजा जा चुका है। मगर अब तक इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं हुई है। उन्होंने जनहित में नीलकंठ में श्राइन बोर्ड गठन की मांग प्रधानमंत्री से की।

Posted By: Jagran