जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड की अंडर-19 महिला टीम के 25 संभावित खिलाड़ियों के नामों की सूची शुक्रवार तक फाइनल हो जाएगी। ट्रायल के फाइनल राउंड में 70 खिलाड़ी जगह बनाने में सफल रहे हैं।

बीसीसीआइ के घरेलू टूर्नामेंट में उत्तराखंड की महिला क्रिकेट टीम अक्टूबर में पहला टूर्नामेंट खेलने मैदान में उतरेगी। 14 अक्टूबर से बीसीसीआइ की अंडर-19 महिला टी-20 लीग शुरू होनी है। इसमें उत्तराखंड की टीम को ग्रुप सी में रखा गया है। उत्तराखंड का पहला मुकाबला 15 अक्टूबर को नागालैंड से होगा। इसके लिए राज्य की अंडर-19 टीम की चयन प्रक्रिया शुरू हो गई है। नौ व 10 सितंबर को हुई रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में 102 खिलाड़ियों ने पंजीकरण कराया। इस दौरान चयन-ट्रायल में बीसीसीआइ की ओर से चयनकर्ता अमृता शिदे, बिंदेश्वरी गोयल और मंगला बारबर ने खिलाड़ियों के प्रदर्शन को परखा। ट्रायल के पहले दिन किसी भी खिलाड़ी को बाहर नहीं किया है। सूत्रों के अनुसार अंतिम दौर के ट्रायल केलिए करीब 70 खिलाड़ी चुनी गई हैं। गुरुवार को फाइनल राउंड के ट्रायल होंगे। जिसके बाद 25 संभावित खिलाड़ियों की सूची फाइनल कर कैंप का आयोजन होगा। ट्रायल के दौरान यूसीसीसी के सदस्य और अंडर-19 महिला टीम के कोऑर्डिनेटर संजय गुसाईं, रोहित चौहान, सुनील कुमार, कुमार थापा, मंजू भंडारी, निष्ठा फरासी मौजूद रहे। मैदान में प्रैक्टिस करने उतरी टीम

विजय हजारे ट्रॉफी के लिए टीम चयन करने को चल रहे कैंप में बुधवार को पहली बार सभी खिलाड़ी मैदान पर प्रैक्टिस सेशन के लिए उतरे। मुख्य कोच भास्कर पिल्लई व टीम ट्रेनर प्रशात पुजारा ने खिलाड़ियों के साथ फिल्डिंग स्किल पर खूब पसीना बहाया। भास्कर पिल्लई ने टीम को हाई कैच, फ्लैट कैच लपकने की प्रैक्टिस कराई। इसके बाद खिलाड़ियों ने इंडोर पिच पर बल्लेबाजी व गेंदबाजी में जमकर मेहनत की। विकेट कीपरों ने भी बालिंग मशीन के माध्यम से विकेट के पीछे अपनी तैयारी की। सूत्रों के मुताबिक, खिलाड़ियों के प्रदर्शन से कोच व ट्रेनर संतुष्ट हैं। बताया कि 14 सितंबर की शाम को टीम घोषित की जा सकती है। सात सितंबर को कैंप शुरू होने के बाद से बुधवार को पहला दिन था, जब खिलाड़ी मैदान पर प्रैक्टिस को उतरे हैं। हालाकि पिच में नमी के कारण प्रैक्टिस मैच नहीं हो पाया है।

Posted By: Jagran