जागरण संवाददाता, ऋषिकेश :

क्षेत्रीय सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के केंद्र में मानव संसाधन विकास मंत्री बनने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में स्थानीय लोगों की उम्मीद काफी बढ़ गई है। आठ वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में निशंक ने ऋषिकेश में युवती सम्मेलन के दौरान यहां महिला डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा की थी।

ऋषिकेश क्षेत्र में महिला डिग्री कॉलेज की मांग करीब दो दशक पुरानी है। यहां स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में नगर तथा ग्रामीण क्षेत्र के अतिरिक्त यमकेश्वर प्रखंड, पट्टी दोगी, रानीपोखरी के छात्र-छात्राएं भी उच्च शिक्षा को लेकर निर्भर रहते हैं।एक दशक पूर्व यह महाविद्यालय ऑटोनॉमस बन जाने के कारण यहां निर्धारित सीटों तक ही प्रवेश दिए जा सकते हैं। समूचे ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र का यह एकमात्र डिग्री कॉलेज विशेष रूप से युवतियों की उच्च शिक्षा का सपना पूरा नहीं कर पा रहा है। महिलाओं के लिए डिग्री कॉलेज की मांग यहां समय-समय पर उठती रही है। क्षेत्रीय सांसद रमेश पोखरियाल निशंक जब मुख्यमंत्री थे तो नौ जुलाई 2011 को महिला मोर्चा ने ऋषिकेश में युवती सम्मेलन का आयोजन किया था। उस वक्त तत्कालीन मुख्यमंत्री निशंक के समक्ष भाजपा की मंडल अध्यक्ष वर्तमान में महापौर अनीता मंमगाई सहित अन्य लोगों ने उनसे ऋषिकेश में महिला डिग्री कॉलेज खोलने की मांग की थी। अपने संबोधन में निशंक ने यहां महिला डिग्री कॉलेज खोले जाने की घोषणा की थी। साढ़े सात साल के लंबे इंतजार के बाद सांसद रमेश पोखरियाल निशंक हो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में मानव संसाधन विकास मंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर मिला है। केंद्र सरकार में महत्वपूर्ण मंत्रालय मिलने के बाद मंत्रालय से ही संबंधित डिग्री कॉलेज की मांग को लेकर स्थानीय लोगों की आस बढ़ गई है। नगर निगम की महापौर अनीता मंमगाई ने कहा कि उनके संबंधित मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री बनने के बाद अब महिला डिग्री कॉलेज की मांग को पुरजोर तरीके से उनके समक्ष रखा जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप