देहरादून, [जेएनएन]: अल्मोड़ा की होनहार एथलीट गरिमा जोशी गंभीर हालत में कर्नाटक मनेपाल के कस्तूरबा गांधी मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। गरिमा इलाज के लिए सरकार से गुहार लगा रही हैं। उधर, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि अल्मोड़ा के चिलियानौला गांव की धाविका गरिमा जोशी के इलाज का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। ज्ञातव्य है कि बंगलूरू में अज्ञात वाहन ने गरिमा जोशी को टक्कर मार दी थी, जिससे वह गम्भीर रूप से घायल हो गई थी। 

बंग्लुरू में बीती 27 मई को इंटरनेशनल एसोसिएट ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन की ओर से हाफ मैराथन का आयोजन किया गया था। जिसमें गरिमा जोशी ने प्रतिभाग करते हुए छठा स्थान प्राप्त किया था। गरिमा जोशी 31 मई को बंग्लुरू में प्रैक्टिस से लौटते वक्त एक वाहन की टक्कर से गंभीर रूप से घायल हो गईं। जिससे उनकी रीढ़ की हड्डी में फ्रैक्चर आया है। गरिमा के पिता पूरन जोशी ने फोन पर बताया कि हाफ मैराथन के बाद वह मनेपाल कैंप में 15 दिन का प्रशिक्षण ले रही थीं।

इस दौरान मैदान से बाहर निकलते वक्त किसी वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी। जहां से उन्हें कस्तूरबा गांधी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। पूरन जोशी ने बताया कि एक तरफ उनकी पत्नी ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में कैंसर के इलाज के दौरान अपना पैर गंवा दिया। अभी तक उनका इलाज चल रहा है।

उन्होंने बताया कि वह किसी तरह से परिवार का गुजारा करते हैं। उनके अनुसार, डॉक्टरों ने बताया है कि अगले छह माह तक के इलाज के बाद ही उनके स्वास्थ्य के बारे में कुछ कहा जा सकेगा। बताया कि मैराथन में जाने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गरिमा को 25000 रुपये की मदद राशि दी थी, जिससे वह वहां खेलने जा पाई।

यह भी पढ़ें: ऐशोआराम की जिंदगी छोड़ ये दंपती कर रहा है लोगों का दुख दूर

यह भी पढ़ें: उम्र के इस पड़ाव में जगा रहे हैं शिक्षा की अलख, घर को बनाया पाठशाला

यह भी पढ़ें: 25 सालों से यहां आजादी के दिन फहराया जाता है अभिमंत्रित तिरंगा

By Sunil Negi