जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड में मौसम के करवट बदलने के बाद प्रदेशभर में वर्षा-बर्फबारी का क्रम जारी है। चारधाम समेत तमाम ऊंची चोटियां भारी हिमपात से लकदक हो गई हैं। जबकि, निचले हिस्सों में भी भारी वर्षा हुई। जिससे तापमान में गिरावट आने के साथ ही प्रदेश में ठिठुरन बढ़ गई। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, आज भी उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़ समेत आसपास के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की वर्षा बर्फबारी हो सकती है। जबकि, देहरादून, नैनीताल समेत अन्य क्षेत्रों में गरज के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं।

शुक्रवार से प्रदेश में मौसम शुष्क रह सकता है। इसके बाद 29 जनवरी को भारी वर्षा-बर्फबारी के आसार बन रहे हैं। बुधवार को केदारनाथ धाम समेत ऊंची चोटियों पर दूसरे दिन भी बर्फबारी का सिलसिला जारी रहा। उत्तरकाशी जनपद में बीते मंगलवार शाम से गंगोत्री, यमुनोत्री में शुरू हुई बर्फबारी बुधवार सुबह तक जारी रही।

वहीं, निचले हिस्से में वर्षा का सिलसिला भी जारी रहा। शाम से गंगोत्री, केदारकांठा, हरकीदून, दयारा-बुग्याल, डोडीताल में बर्फबारी हुई। चमोली जिले में बदरीनाथ धाम, औली, हेमकुंड साहिब समेत ऊंची चोटियों पर जोरदार हिमपात हुआ। जोशीमठ में बादल छाये रहे और आसपास की चोटियों पर वर्षा-बर्फबारी हुई। देहरादून और आसपास के क्षेत्रों में भी तड़के जोरदार वर्षा हुई।

उधर, पूरे कुमाऊं में निचले इलाकों में झमाझम वर्षा हुई। पिथौरागढ़ की उच्च हिमालयी चोटियों पर हिमपात हुआ। लेकिन, बर्फबारी की उम्मीद में नैनीताल पहुंचे पर्यटकों को निराश होना पड़ा। मुनस्यारी तहसील में हंसालिंग, राजरंभा, पंचाचूली चोटियां ताजे हिमपात से बर्फ से लकदक हो गईं।

Edited By: Nitesh Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट