जागरण संवाददाता, विकासनगर: हथियारी स्थित व्यासी जल विद्युत परियोजना राष्ट्र को समर्पित करने की तैयारी शुरू हो गई। रविवार को परियोजना की संरचना, गेट और मशीनों की जांच के लिए जलाशय में पानी भरने की प्रक्रिया शुरू की गई। हालांकि, बांध प्रभावित लोहारी के ग्रामीणों के विरोध के चलते परियोजना स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस बल के जवान और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। कुल मिलाकर पुलिस के पहर में परियोजना के जलाशय में पानी भरने की कार्रवाई शुरू हुई। आक्रोशित बांध प्रभावितों ने परियोजना स्थल पर पहुंचे विधायक मुन्ना सिंह चौहान को काला झंडा दिखाया। वहीं, जलाशय में पानी भरने से पहले चेतावनी एनाउंस करने आए दो अवर अभियंता और वाहन चालक को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। आंदोलन के चलते हालात बिगड़ता देख पुलिस ने बंधकों को मुक्त कराया और समिति अध्यक्ष नरेश चौहान को मौके पर ही हिरासत में ले लिया।

लोहारी के बांध प्रभावितों ने परियोजना स्थल से दूर जुड्डो में सरकार, क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। इसी बीच परियोजना पर पहुंचे विधायक मुन्ना चौहान को उन्होंने काला झंडा दिखाया। प्रदर्शन में शामिल ग्रामीणों को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी, जिसके चलते समूचा क्षेत्र छावनी में तब्दील रहा। पुलिस बल ने ग्रामीणों को परियोजना से पहले ही रोक लिया। इसी बीच व्यासी परियोजना के दो अवर अभियंता वाहन से चेतावनी एनाउंस करने आ पहुंचे। ग्रामीणों ने अवर अभियंता समेत वाहन चालक को बंधक बना लिया। विरोध-प्रदर्शन करने वालों में सुखपाल तोमर, नरेश चौहान, रमेश चौहान, दिनेश तोमर, राजपाल तोमर, महिपाल तोमर, संगीता चौहान, अनिता चौहान, डिपल चौहान, प्रमिला तोमर, सुचिता तोमर आदि शामिल रहे।

-------------

लोहारी गांव के पुनस्र्थापन तक 620 मीटर तक भरा जाएगा पानी

हथियारी स्थित 120 मेगावाट की व्यासी जल विद्युत परियोजना को ऊर्जाकृत करने के लिए पूरी संरचना की जांच की जानी है। परियोजना के अधिशासी निदेशक राजीव अग्रवाल और महाप्रबंधक जानपद व्यासी परियोजना डाकपत्थर सुनील कुमार जोशी आदि अधिकारियों की मौजूदगी में जलाशय में पानी छोड़ा गया। अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल जलाशय में दो मीटर पानी भरा गया है। ग्राम लोहारी के पुनस्र्थापना के बाद जलस्तर 620 मीटर तल से बढ़ाकर परियोजना को ऊर्जाकृत किया जाना है। इस दौरान पुलिस क्षेत्राधिकारी वीडी उनियाल के नेतृत्व में कोतवाल रविद्र शाह, कालसी थानाध्यक्ष ऋतुराज, चकराता थानाध्यक्ष एसके भाटी समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल के जवान तैनात रहे।

Edited By: Jagran