देहरादून, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस की राष्ट्रीय कोर टीम में उत्तराखंड की हिस्सेदारी में इजाफा हुआ है। राष्ट्रीय सचिव एवं मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन को राष्ट्रीय सचिव संगठन की जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी में राष्ट्रीय स्तर पर काजी निजामुद्दीन का कद बढ़ाने के पीछे राजस्थान चुनाव में उनकी मेहनत से जोड़कर देखा जा रहा है। 

नई जिम्मेदारी मिलने के बाद काजी निजामुद्दीन अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कोर टीम का हिस्सा भी बन गए हैं। काजी उत्तराखंड के ऐसे दूसरे नेता हैं। उनसे पहले कांग्रेस की केंद्रीय कोर टीम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत शामिल हैं। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को राष्ट्रीय महासचिव के साथ कांग्रेस की सर्वोच्च इकाई कांग्रेस कार्यसमिति का सदस्य भी बनाया गया है। इसके साथ ही उनके पास असम राज्य का प्रभार भी है। हालांकि कांग्रेस से प्रकाश जोशी भी राष्ट्रीय सचिव हैं। अब काजी निजामुद्दीन को राष्ट्रीय सचिव संगठन मनोनीत किए जाने से ये साबित हो गया है कि कांग्रेस हाईकमान खासतौर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का निजामुद्दीन पर भरोसा बढ़ा है। 

दरअसल अच्छे वक्ताओं में शुमार काजी निजामुद्दीन को कांग्रेस ने राजस्थान के चुनाव से काफी पहले ही वहां पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने और जनाधार को बढ़ाने का जिम्मा सौंपा था। काजी निजामुद्दीन ने इस जिम्मेदारी को संभालने के बाद पार्टी को निराश नहीं किया। राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ी कामयाबी मिली और वह सत्ता में लौटी। खुद काजी निजामुद्दीन इस जिम्मेदारी को अपने लिए अहम मान रहे हैं। 

काजी निजामुद्दीन (राष्ट्रीय सचिव संगठन अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी) का कहना है कि राहुलजी ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है, उनके भरोसे पर खरा उतरने की पूरी कोशिश रहेगी, मुझे जिम्मेदारी मिलना पूरे उत्तराखंड का सम्मान है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में भाजपा प्रत्याशियों के टिकट फाइनल, केंद्रीय नेतृत्व ने किया इन नामों का एलान

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में प्रियंका के रोड शो भरेंगे कांग्रेसियों में नया जोश

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप