जागरण संवाददाता, देहरादून : Monsoon in Uttarakhand : उत्तराखंड में मौसम ने करवट बदल ली है। पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से शनिवार रात को पर्वतीय क्षेत्रों में झमाझम वर्षा हुई। हालांकि, शुक्रवार को दिनभर बादलों और धूप की आंख-मिचौनी चलती रही। इस दौरान कहीं-कहीं हल्की से मध्यम वर्षा भी दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार अगले पांच दिन प्रदेश में भारी वर्षा के आसार हैं। भूस्खलन और नदियों के उफान को लेकर चेतावनी जारी की गई है।

मौसम के करवट बदलने के साथ पर्वतीय क्षेत्रों में झमाझम वर्षा

प्रदेश में मौसम का मिजाज बदल गया है। शनिवार रात चमोली और कर्णप्रयाग में मूसलधार वर्षा दर्ज की गई। हालांकि, गढ़वाल के निचले इलाकों में बूंदाबांदी हुई। कुमाऊं के ज्यादातर क्षेत्रों में भी झमाझम वर्षा हुई। देहरादून समेत आसपास के क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी के बाद धूप खिली और उमस ने बेहाल किया। चमोली में बदरीनाथ हाईवे पर भूस्खलन के कारण मार्ग नौ घंटे बाधित रहा। जिसके चलते दो हजार से अधिक यात्री परेशान रहे।

उधर, कुमाऊं में रविवार को वर्षा ने काफी राहत दी। पहाड़ से लेकर मैदान तक हल्की व मध्यम वर्षा हुई। बागेश्वर जिले के कपकोट मोटर मार्ग में हरसिला के समीप भूस्खलन होने से लगभग दो घंटे यातायात बंद रहा। नैनीताल में सुबह वर्षा के बाद अधिकतम तापमान लुढ़ककर 22 डिग्री के आसपास आ गया। पिथौरागढ़, चम्पावत, अल्मोड़ा व ऊधम सिंह नगर जिले में भी हल्की वर्षा ने राहत दी।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार अगले पांच दिन प्रदेश में वर्षा का क्रम बना रह सकता है। 29 जून को प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ ही मानसून दस्तक दे सकता है। देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है। अन्य इलाकों में भी हल्की से मध्यम वर्षा के आसार हैं। इसे लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में अगले चार से पांच दिन में मानसून पूरी तरह सक्रिय हो सकता है।

रविवार को यह रहा प्रमुख शहरों का तापमान

नगर-अधिकतम- न्यूनतम

देहरादून- 34.2- 26.2

पंतनगर- 35.1- 25.0

हरिद्वार- 39.8- 24.5

मुक्तेश्वर- 22.0- 14.9

नई टिहरी- 26.6- 18.8

मसूरी-25.4-16.8

नैनीताल- 23.3- 16.4

(तापमान डिग्री सेल्सियस में है)

यह भी पढ़ें :-  Chardham Yatra 2022 : नौ घंटे तक बदरीनाथ हाईवे पर फंसे रहे दो हजार से अधिक यात्री, एनएच के इंतजामों की खुली पोल

Edited By: Nirmala Bohra