जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड में कहीं वर्षा तो कहीं धूप खिल रही है। देहरादून में सुबह झमाझम वर्षा हुई, लेकिन इसके बाद दिनभर धूप खिली रही। मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में आज गुरुवार को आंशिक बादल छाये रहेंगे। कहीं-कहीं हल्की वर्षा हो सकती है। जबकि, शुक्रवार को कुमाऊं में भारी वर्षा को लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

गर्मी और उमस ने किया परेशान

बुधवार को तड़के दून समेत आसपास के क्षेत्रों में झमाझम वर्षा हुई। हालांकि, इसके बाद आसमान साफ हो गया। दिनभर चटख धूप खिलने से गर्मी और उमस ने परेशान किया। पर्वतीय जिलों में भी कहीं-कहीं तेज वर्षा के एक से दो दौर हुए। जिससे कई प्रमुख मार्गों पर भूस्खलन के कारण यातायात बाधित रहा।

शुक्रवार को कुमाऊं में भारी वर्षा का अनुमान

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, प्रदेश में आज गुरुवार को आंशिक से लेकर आमतौर पर बादल छाये रहने के आसार हैं। कहीं-कहीं हल्की वर्षा हो सकती है। जबकि, शुक्रवार को कुमाऊं के चंपावत, बागेश्वर और ऊधम सिंह नगर में भारी वर्षा होने का अनुमान है। अन्य जिलों में हल्की वर्षा हो सकती है।

बुधवार को प्रमुख नगरों का तापमान

नगर---अधिकतम----न्यूनतम

देहरादून--34.5--------22.6

पंतनगर---35.9-------27.5

हरिद्वार---35.4-------24.7

मुक्तेश्वर---24.5------17.1

नई टिहरी---26.4------17.0

मसूरी--------27.2------17.6

नैनीताल-----27.4-------16.9

(तापमान डिग्री सेल्सियस में है)

रुड़की: बूंदाबांदी से नहीं मिली राहत, झमाझम वर्षा का इंतजार

शिक्षानगरी में बुधवार को बूंदाबांदी हुई लेकिन नागरिकों को उमस भरी गर्मी से कोई राहत नहीं मिल सकी। दिनभर लोग पसीना-पसीना होते रहे। ऐसे में भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए शहरवासी झमाझम वर्षा का इंतजार कर रहे हैं।

शहर और आसपास के क्षेत्रों में बुधवार सुबह आसमान में काले घने बादल छाए रहे। साथ ही सुबह दस बजे के आसपास रिमझिम वर्षा हुई, लेकिन कुछ मिनटों में ही वर्षा रुक गई। इसके कुछ देर बाद धूप खिल गई।

हालांकि, दिनभर बादलों की आवाजाही होती रही। रिमझिम वर्षा और बादलों के पहरे के कारण मंगलवार की तुलना में बुधवार को शहर के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 36.5 डिग्री सेल्सियस से लुढ़ककर 34 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। जबकि न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस से कम होकर 25.5 डिग्री सेल्सियस रेकार्ड हुआ।

उधर, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की के जल संसाधन विकास एवं प्रबंधन विभाग में संचालित ग्रामीण कृषि-मौसम सेवा परियोजना से मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार जिले में दस जुलाई तक मध्यम से घने बादल छाए रहने और वर्षा का पूर्वानुमान है।

Edited By: Sunil Negi