जागरण संवाददाता, देहरादून: अगले 24 घंटे में मानसून के उत्तराखंड पहुंचने की उम्मीद है। वहीं, मौसम विभाग ने अगले तीन दिन (बुधवार से शुक्रवार तक) प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना जताते हुए आरेंज अलर्ट जारी किया है। इसको देखते हुए पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन की चेतावनी जारी की गई है। नदी-नालों के उफान पर आने की भी आशंका है।

कुमाऊं मंडल के ज्यादातर क्षेत्रों में वर्षा का क्रम है जारी

राज्य में कुमाऊं मंडल के ज्यादातर क्षेत्रों में झमाझम वर्षा का क्रम जारी है। गढ़वाल में भी बादलों ने डेरा जमा रखा है और कहीं-कहीं हल्की बौछारें पड़ रही हैं। मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटे में कुमाऊं के कुछ हिस्सों में मानसून दस्तक दे सकता है।

उत्‍तराखंड के पांच जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना

बुधवार को देहरादून, नैनीताल, चंपावत और पौड़ी में गरज के साथ भारी वर्षा की आशंका है। वहीं, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना जताई गई है।

मंगलवार को यह रहा प्रमुख शहरों का तापमान

  • नगर------अधिकतम--न्यूनतम
  • देहरादून-------34.4----26.2
  • पंतनगर-------34.8----27.5
  • हरिद्वार-------34.5----25.9
  • मुक्तेश्वर------24.2---16.2
  • नई टिहरी-----25.0---19.0
  • मसूरी----------24.7---15.6
  • नैनीताल------23.6-----15.4
  • (तापमान डिग्री सेल्सियस में है)

कर्णप्रयाग: सिमली में वर्षा और भूस्खलन से कई संपर्क मार्ग बंद

चमोली जिले के सिमली क्षेत्र में लगातार हो रही वर्षा से अधिकांश संपर्क मार्ग और पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त हो गए हैं। पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त होने से क्षेत्र में पेयजल संकट भी मंडराने लगा है।

लैंसडौन में आकाशीय बिजली गिरने से युवती की मौत

पौड़ी जिले में लैंसडौन तहसील के अंतर्गत बरस्वार गांव में आकाशीय बिजली गिरने से 21 वर्षीय रितिका पुत्री विनोद कुमार की मौत हो गई। रितिका चारा पत्ती लेने के लिए जंगल गई थी। वह जिस पेड़ से चारा काट रही थी, अचानक उसी पेड़ पर आकाशीय बिजली गिर गई।

मसूरी में मलबा आने से कई मार्ग बाधित

मसूरी में मंगलवार को मूसलधार वर्षा के बीच कई मार्ग मलबा आने से बाधित हो गए। पहाड़ी से मलबा गिरने से भट्ठा गांव के पास मसूरी-देहरादून हाईवे करीब तीन घंटे बाधित रहा। वहीं, मलबे में सड़क किनारे खड़ी पर्यटकों की कार दब गई। उस समय कार में कोई नहीं था।

Edited By: Sunil Negi