देहरादून, जेएनएन। कुख्यात अपराधियों को पकड़ने को दी जाने वाली दबिश के लिए उत्तराखंड पुलिस कमांडो तैयार करेगी। पुलिस महानिदेशक अनिल के रतूड़ी ने आइजी ट्रेनिंग को निर्देश दिया है कि वह थाना स्तर से ऐसे पुलिसकर्मियों की लिस्ट तैयार कर उनकी कमांडो ट्रेनिंग की प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू कराएं।

कानपुर में कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम के डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिसकर्मियों के बलिदान ने देश भर की पुलिस को झकझोर दिया है। ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अब उत्तराखंड में तैयारी तेज हो गई है। शनिवार को पुलिस महानिदेशक ने कानपुर प्रकरण को लेकर आला अधिकारियों के साथ बैठक की और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जिलों के एसएसपी और एसपी को दबिश के दौरान विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि दबिश के दौरान विशेष सतर्कता बरती जाए। देखने में आ रहा है कि कमांडो ट्रेनिंग के लिए सबसे अधिक अर्जी पीएसी की ओर से आती है, लेकिन अब से कमांडो ट्रेनिंग के लिए जिला पुलिस से भी पुलिसकर्मियों को चिह्नित किया जाए।

कोशिश हो कि हर थाने पर दो-तीन पुलिसकर्मी कमांडो प्रशिक्षण से लैस हों, जिससे दबिश के दौरान अप्रत्याशित स्थिति उत्पन्न होने पर वह न सिर्फ बदमाशों का मुकाबला करने में सक्षम हों, बल्कि साथ गए पुलिसकर्मियों के रक्षा कवच भी बन सकें। कमांडो ट्रेनिंग के लिए पुलिसकर्मियों के चयन की जिम्मेदारी डीजीपी ने आइजी प्रशिक्षण को सौंपी है।

बैठक में आइजी गढ़वाल अभिनव कुमार, आइजी फायर अमित सिन्हा, आइजी पुलिस मार्डनाइजेशन वी मुरुगेशन, आइजी कुंभ संजय गुंज्याल, आइजी लॉ एंड आर्डर एपी अंशुमान, आइजी कार्मिक पुष्पक ज्योति, डीआइजी अपराध और कानून व्यवस्था रिधिम अग्रवाल, सेनानायक एसडीआरएफ तृप्ति भट्ट और अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में चौकसी के दावे हवाई, बॉर्डर से प्रवेश कर रहे कांवड़ यात्री

अनलॉक-टू के नियमों का कराएं पालन

पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने बैठक में अनलॉक-टू के नियमों का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नियमों के बारे में पुलिस से लेकर आम नागरिक तक जानकारी पहुंचाई जाए, ताकि किसी को अनावश्यक परेशान न होना पड़े। इसके लिए एसएसपी और एसपी अपने जनपद में थाना से लेकर चेकपोस्ट स्तर पर मीटिंग कर नई गाइडलाइन के संबंध में पुलिस बल को ब्रीफ करें। चारधाम यात्रा को लेकर उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लोगों के लिए खोल दिए गए हैं। जिन जनपदों में चारधाम स्थित हैं, उनके प्रभारी यात्रा संबंधी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन कराएं। 

यह भी पढ़ें: इस बार कांवड़ यात्रा स्थगित, कुंभ को लेकर सरकार ने कसी कमर

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021