जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। जनपद टिहरी गढ़वाल के थाना मुनिकीरेती के अंतर्गत ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ब्रह्मपुरी में एक आल्टो कार के गहरी खाई में गिर जाने से दो लोगों की दुर्घटना स्थल पर ही मौत हो गई। एसडीआरएफ और पुलिस की टीम ने दो घायल को खाई से निकालकर एम्स ऋषिकेश पहुंचाया, जहां दोनों की हालत गंभीर बनी है।

थाना मुनिकीरेती के अंतर्गत मंगलवार की पूर्वान्ह करीब साढ़े 11 बजे शिवपुरी से ऋषिकेश आ रही एक आल्टो कार ब्रह्मपुरी के समीप करीब एक सौ मीटर गहरी खाई में गिर गई। खाई में गिरने के बाद कार गंगा के किनारे जाकर रुक गई। कार में सवार सभी लोग छिटक कर बाहर खाई में गिर गए। सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह, यातायात प्रभारी निरीक्षक सिद्धार्थ कुकरेती पुलिस टीम को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे। गहरी खाई में वाहन गिरा होने के कारण पुलिस ने मदद के लिए व्यासी में तैनात एसडीआरएफ की टीम को बुलाया।

रेस्क्यू टीम के सदस्य मदद के लिए खाई में उतरे। दुर्घटना स्थल पर दो लोग दम तोड़ चुके थे। वाहन में एक युवती और तीन पुरुष सवार थे। गंभीर रूप से घायल महिला और पुरुष को एम्स ऋषिकेश भेजा गया। जहां उनकी हालत गंभीर बनी है।

प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने बताया कि घायल दोनों लोग को गंगा में जा रही एक राफ्ट को रोककर उसकी सहायता से नीम बीच तक ले जाया गया। मौके पर रामदयाल (52 वर्ष) पुत्र बुद्धि दास निवासी चमेली गांव, पट्टी दोगी नरेंद्र नगर और संजीव सजवाण (42 वर्ष ) पुत्र रणवीर सिंह निवासी बैरनी कमांध चंबा टिहरी गढ़वाल के शव को एसडीआरएफ और स्थानीय लोगों की मदद से खाई से निकाला गया। दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेजे गए हैं।

पुलिस के मुताबिक घायलों में रीना पंवार (20 वर्ष) पुत्री चतर सिंह निवासी चमेली गांव, पट्टी दोगी नरेंद्र नगर और विकास भट्ट (30 वर्ष) पुत्र पूर्णानंद भट्ट निवासी बैराई गांव पट्टी दोगी नरेंद्र नगर शामिल है। पुलिस के मुताबिक दुर्घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। इतना जरूर है कि घटनास्थल के आसपास पहाड़ी से गिरकर कुछ पत्थर मौके पर फैले हुए थे। संभावना यही जताई जा रही है कि पत्थर के कारण चालक अनियंत्रित हो गया। पुलिस दुर्घटना के कारणों की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में बड़ा हादसा: अब तक खाई से निकाले जा चुके 13 शव, रेस्क्यू जारी

Edited By: Raksha Panthri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट