राज्य ब्यूरो, देहरादून: पर्यावरणीय दृष्टि से संवेदनशील उत्तराखंड ने जल संरक्षण के मद्देनजर मिशन अमृत सरोवर योजना को हाथों हाथ लिया है। राज्य के सभी 13 जिलों के लिए तय 975 के लक्ष्य के सापेक्ष 1271 सरोवर के लिए स्थल चयन होना इसका उदाहरण है।

इनमें से 545 अमृत सरोवर पर तेजी से कार्य चल रहा है, जो 15 अगस्त तक पूर्ण हो जाएंगे। शेष अमृत सरोवर भी शीघ्र तैयार कर लिए जाएंगे। इस संबंध में मुख्य सचिव डा एसएस संधु ने संबंधित विभागों को निर्देश जारी किए हैं।

स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में शुरू किए गए मिशन अमृत सरोवर में प्रत्येक जिले में 75 सरोवर बनाने का लक्ष्य है, लेकिन उत्तराखंड ने तय संख्या से ज्यादा सरोवर निर्माण में रुचि ली है।

केंद्र सरकार द्वारा राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए उसे एक एकड़ से कम भूमि में सरोवर निर्माण की छूट दिए जाने से यह संख्या अधिक बढ़ी है। यद्यपि, यह मिशन राज्य की परिस्थितियों के अनुकूल है।

विषम भूगोल होने के कारण यहां जल संरक्षण अधिक महत्वपूर्ण है। आंकड़ों को देखें तो प्रदेश में प्रतिवर्ष 1521 मिमी बारिश होती है, जिसमें मानसून का योगदान 1229 मिमी का है। बावजूद इसके बारिश का यह पानी यूं ही जाया हो जाता है। यदि इसका कुछ हिस्सा भी समेट लिया जाए तो पानी से जुड़ी बड़ी दिक्कत हल हो सकती है।

इस परिदृश्य में सरोवरों का निर्माण होने पर वर्षा जल संचय से जलस्रोत रीचार्ज होंगे, वहीं वन क्षेत्रों में आग की घटनाओं पर अंकुश लगाने में भी मदद मिलेगी। यही कारण है कि हर बार वनों में आग की घटनाओं से परेशान रहने वाले वन विभाग ने भी मिशन अमृत सरोवर के अंतर्गत वन क्षेत्रों में 250 सरोवर बनाने का निश्चय किया है।

मिशन के राज्य समन्वयक मोहम्मद असलम के अनुसार प्रदेश में 1271 सरोवर में से 959 नए बनेंगे, जबकि 312 का जीर्णोद्धार कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि सात जिले ऐसे हैं, जिनमें प्रत्येक में सौ से ज्यादा सरोवर तैयार होंगे। शेष जिलों में यह संख्या 74 से 97 के बीच है। सभी जिलों में इन दिनों सरोवर निर्माण का कार्य चल रहा है और 545 आगामी 15 अगस्त तक तैयार हो जाएंगे।

मनरेगा की भूमिका महत्वपूर्ण

अमृत सरोवर निर्माण को लेकर राज्य में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) की महत्वपूर्ण रहेगी। मिशन के राज्य समन्वयक के मुताबिक केवल मनरेगा में 424 सरोवर बनेंगे, जबकि 559 का निर्माण मनरेगा व अन्य विभागों के सहयोग से होगा। इसके अलावा वन विभाग 250 सरोवर बनाएगा, जबकि 21 हर खेत को पानी योजना और 15 का निर्माण 15वें वित्त आयोग से प्राप्त धनराशि से होगा। दो सरोवरों का निर्माण सिंचाई विभाग कराएगा।

राज्य में मिशन अमृत सरोवर

  • जिला----कुल सरोवर----15 अगस्त तक पूर्ण होने वाले
  • टिहरी-------117-------45
  • नैनीताल----115-------42
  • ऊ.नगर-----113-------39
  • उत्तरकाशी-109-------51
  • देहरादून-----109-------51
  • अल्मोड़ा-----108, 42
  • पौड़ी----------103------55
  • चमोली-------97-------37
  • पिथौरागढ़----87-------48
  • हरिद्वार------84-------40
  • बागेश्वर------80-------38
  • रुद्रप्रयाग-----75-------30
  • चम्पावत------74-------27

Edited By: Sunil Negi