जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Vidhan Sabha Election 2022 मसूरी विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी गणेश जोशी की संपत्ति बीते पांच साल में तीन गुना बढ़ी है। वहीं, उनकी पत्नी की संपत्ति में इसी अवधि में तीन गुना से अधिक बढ़ोतरी हुई है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में गणेश जोशी ने अपनी कुल संपत्ति करीब 60 लाख रुपये और अपनी पत्नी निर्मला जोशी की कुल संपत्ति करीब ढाई करोड़ रुपये घोषित की थी। वहीं, इस चुनाव में उन्होंने अपनी चल-अचल संपत्ति दो करोड़ रुपये घोषित की है, जबकि उनकी पत्नी अब आठ करोड़ रुपये की संपत्ति की स्वामी हैं।

शुक्रवार को नामांकन के दौरान रिटर्निंग आफिसर को दिए गए शप थपत्र में गणेश जोशी ने अपनी चल-अचल संपत्ति का ब्योरा दिया, जिसके अनुसार वर्तमान में उनके पास करीब सवा लाख रुपये, जबकि उनकी पत्नी के पास डेढ़ लाख रुपये नकद हैं। इसके अलावा जोशी के बैंक खाते में एक करोड़ 31 लाख रुपये जमा हैं तो उनकी पत्नी के बैंक खाते में करीब एक करोड़ रुपये की धनराशि है।

वाहन की बात करें तो गणेश जोशी के पास एक फार्च्यूनर और एक इनोवा कार है, जबकि उनकी पत्नी के पास पोलो कार है। इसके अलावा गणेश जोशी के पास करीब 37 लाख रुपये वर्तमान मूल्य की भूमि भी है। उनकी पत्नी के पास 16.5 लाख रुपये मूल्य के आभूषण हैं। इसके अलावा छह करोड़ 62 लाख रुपये वर्तमान मूल्य की आवासीय और गैर कृषि भूमि भी उनके पास है।

अग्रवाल करोड़पति, चमोली बे-'कार'

धर्मपुर विधानसभा सीट की करें तो कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल करोड़पति हैं, जबकि भाजपा प्रत्याशी मौजूदा विधायक विनोद चमोली के पास कार तक नहीं है। ऐसा नहीं कि चमोली के पास धन की कोई कमी हो, लेकिन चुनाव आयोग के समक्ष दिए शपथ-पत्र में उन्होंने अपने आप को 'बे-कार' बताया है। धर्मपुर में भाजपा और कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी, सपा औरबसपा के प्रत्याशी भी मैदान में हैं, मगर किसी करिश्में को छोड़ दें तो सीधी टक्कर अग्रवाल और चमोली में मानी जा रही।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के करोड़पति प्रत्याशी के नाम पर नहीं है कोई भी वाहन, दूसरी बार कैंट से हैं चुनावी मैदान में

Edited By: Raksha Panthri