जागरण संवाददाता, रुड़की: चलती कार में मां और बेटी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने महिला के पाक्सो कोर्ट हरिद्वार में बयान दर्ज कराए हैं। बच्ची का सिविल अस्पताल में उपचार चल रहा है। वहीं, पुलिस ने सिविल लाइंस बाजार स्थित एक दुकान में काम करने वाले युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की है।

चार युवकों ने मां बेटी से किया था सामूहिक दुष्‍कर्म

शुक्रवार को कलियर क्षेत्र निवासी एक महिला और उसकी छह साल की बेटी को शुक्रवार को कार सवार चार युवकों ने लिफ्ट दी थी। इसके बाद उन्होंने चलती कार में दोनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

बच्ची को सिविल अस्पताल में कराया गया  है भती

गंभीर हालत में बच्ची को सिविल अस्पताल में भती कराया गया था। पुलिस ने सिविल लाइंस बाजार स्थित एक ज्वेलर्स की दुकान में काम करने वाले युवक को हिरासत में लिया है। वहीं पुलिस उसके संपर्क में रहे युवकों से भी पूछताछ कर रही है।

पुलिस के हाथ लगे हैं कुछ अहम सुराग

पुलिस को कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं, जिसके आधार पर पुलिस दबिश दे रही है। वहीं, मंगलवार को पाक्सो कोर्ट हरिद्वार में पीड़ि‍त महिला के बयान दर्ज कराए हैं। बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में उनकी मां वादी है।

इसलिए पुलिस ने महिला के बयान दर्ज कराए हैं। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने बताया कि जल्द ही इस मामले में आरोपितों की गिरफ्तारी की जाएगी।

महिला आयोग की सदस्य सचिव रुड़की पहुंची

मां-बेटी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मंगलवार को राज्य महिला आयोग की सदस्य सचिव कामिनी गुप्ता ने सिविल अस्पताल पहुंचकर मां-बेटी का हालचाल जाना। उन्होंने सीएमएस डा. संजय कंसल से मां-बेटी की तबीयत के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने दोनों के उपचार में किसी तरह की कोताही न बरतने के निर्देश दिए। वहीं, राष्ट्रीय महिला आयोग ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्य कमेटी गठित की है।

Edited By: Sunil Negi