संवाद सहयोगी, गोपेश्वर (चमोली): मुर्गे खरीदने का लालच देकर नारायणबगड़ में एक पोल्ट्री फार्म संचालक से साइबर ठग ने खाते से एक लाख छह हजार 329 रुपये की धनराशि उड़ा ली।

पुलिस ने सूचना के त्वरित बाद कार्रवाई कर धनराशि वापस करा दी। पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे ने बढ़ती साइबर ठगी पर चिंता व्यक्त करते हुए आमजन को जागरूक रहने की अपील की है।

नारायणबगड़ निवासी राजेंद्र सिंह ने 21 जून को पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करवाई गई कि उनसे मुर्गे खरीद के लिए फोन आया। राजेंद्र की ओर से व्यापार के प्रमोशन के लिए अपना नंबर इंटरनेट मीडिया पर डाला गया था।

राजेंद्र सिंह ने बताया कि 20 जून को अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर लाखों रुपये की मुर्गियों की डिमांड का झांसा दिया। बताया गया कि एडवांस देने के नाम पर साइबर ठग ने राजेंद्र से बैंक डिटेल ली और खाते से एक लाख से अधिक की धोखाधड़ी हो गई।

पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में मामला आने पर इस शिकायत को पुलिस चौकी से कार्रवाई के लिए साइबर सेल चमोली को सौंपा गया। साइबर सेल ने तकनीकी सहायता से शिकायतकर्ता के खाते में 1,06,329 रुपये की धनराशि वापस करा दी।

पीड़ि‍त ने साइबर सेल की त्वरित कार्रवाई की सराहना की। पीड़ि‍त को धनराशि दिलाने वालों में साइबर सेल प्रभारी निरीक्षक मनोज नेगी के अलावा उप निरीक्षक नारायणबगड़ चौकी प्रभारी नवीन नेगी, कांस्टेबल साइबर सेल विपिन रावत शामिल थे।

रहें सावधान

  • किसी अज्ञात व्यक्ति के काल और मैसेज से सावधान रहें।
  • किसी को भी अपना पासवर्ड, ओटीपी व अन्य जानकारी शेयर न करें।
  • अनजान लिंक, आनलाइन जाब्स आफर से संबंधित लिंक पर क्लिक न करें।
  • अनजान क्यूआर कोड स्कैन न करें।
  • गूगल पर कस्टमर केयर नंबर सर्च कर अपनी महत्वपूर्ण एवं निजी जानकारी साझा न करें।
  • जागरूक बनें एवं अन्य व्यक्तियों को भी जागरूक करें।
  • यदि कोई भी व्यक्ति ठगी का शिकार होता है तो तत्काल नजदीकी थाना एवं साइबर हेल्पलाइन नंबर 1930 पर सूचना दें।

Edited By: Sunil Negi